लखनऊ के अनिरुद्ध ने उत्तराखंड में आतंकवाद विरोधी महिला दस्‍ते को दिया प्रशिक्षण, कुभ में होगी तैनाती

उत्तराखंड पुलिस की पहली आतंकवाद विरोधी महिला कमांडो दस्ते को दी कई जानकारी।

लखनऊ के आलमबाग निवासी अनिरुद्ध प्रताप सिंह ने उत्तराखंड में महिला पुलिस को निशुल्क प्रशिक्षण दिया है अनिरुद्ध ने बताया कि उत्तराखंड पुलिस के दस्ते में आतंकवाद विरोधी कार्यवाही के लिए 22 महिला पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है।

Rafiya NazMon, 01 Mar 2021 12:17 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। लखनऊ के आलमबाग निवासी अनिरुद्ध प्रताप सिंह ने उत्तराखंड में महिला पुलिस को निशुल्क प्रशिक्षण दिया है अनिरुद्ध ने बताया कि उत्तराखंड पुलिस के दस्ते में आतंकवाद विरोधी कार्यवाही के लिए 22 महिला पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। इनमें 20 सिपाही और दो सब इंस्पेक्टर शामिल थीं। 

इस विशेष दस्ते को टिहरी गढ़वाल के नरेंद्र नगर स्थित पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में प्रशिक्षण दिया गया। इसमें विशेष तौर पर स्वदेशी ट्रेनिंग मास्टर शिफूजी द्वारा इजाद किये गए मिट्टी सिस्टम का कड़ा प्रशिक्षण महिला कमांडो दस्ते को दिया गया। इसके तहत हर रोज 18 घंटे की ट्रेनिंग दी जाती थी। इसमें पहले ही वार में दुश्मन को मार गिराने और  बिना असलहे के हथियार वाले आतंकवादियों से लड़ाई करने की ट्रेनिंग दी गई।

यही नहीं पहली महिला कमांडो की ट्रेनिंग में वीवीआइप दस्ते के साथ चलने, काउंटर टेररिज्म और काउंटर इमरजेंसी का प्रशिक्षण भी दिया गया। इन महिला कमांडो की प्रथम तैनाती अत्याधुनिक उपकरणों के साथ कुम्भ 2021 में होगी। यह ट्रेनिंग विशेष फोर्स, विशिष्ट घटक पलटनों, सेना और पुलिस के लिए शिफूजी शौर्य भारद्वाज ने विकसित की है। इस एडवांस ट्रेनिंग 'मिट्टी सिस्टम' के सह प्रशिक्षणकर्ता अनिरुद्ध प्रताप सिंह इसके असिस्टेंट चीफ़ इंस्ट्रकटर भी हैं। अनिरुद्ध पेशे से मोटिवेशनल स्पीकर हैं और जिम संचालक हैं। इनकी ओर से भारतीय सेना और अर्धसैनिक बल में तैनात जवानों को निशुल्क सेवा और प्रशिक्षण दिया जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.