सीधी उड़ानः डेढ़ साल में योगी सरकार ने सात बड़े शहरों को हवाई सेवा से जोड़ा

लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश सरकार ने रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत डेढ़ साल में सात शहरों को हवाई मार्ग से जोड़ दिया है। इनमें इलाहाबाद से ही चार शहरों के लिए नियमित उड़ानें शुरू हुईं हैं। कानपुर व गोरखपुर से भी दिल्ली के लिए सीधी हवाई सेवा शुरू हो गई है। आगरा व  जयपुर दोनों पर्यटन स्थलों को भी हवाई मार्ग से जोड़ दिया गया है। इसके अलावा 19 नए हवाई मार्गों पर भी शीघ्र हवाई सेवा शुरू होने जा रही है।

अब आएगी छोटे शहरों की बारी

रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत अब छोटे शहरों को हवाई मार्ग से जोड़ा जा रहा है। इसके तहत अब तक इलाहाबाद से लखनऊ, पटना, नागपुर व इंदौर की सीधी हवाई सेवा शुरू हो चुकी है। कुंभ को देखते हुए कई और शहरों को इलाहाबाद से सीधे हवाई मार्ग के जरिए जोड़ा जा रहा है। इनमें कोलकाता, रायपुर व देहरादून सहित कई अन्य शहर शामिल हैं। कानपुर से दिल्ली व गोरखपुर से दिल्ली की भी उड़ानें शुरू हो गईं हैं। प्रदेश सरकार अब अगले चरण में अलीगढ़, आजमगढ़, बरेली, चित्रकूट, झांसी, मुरादाबाद, सोनभद्र व श्रावस्ती जिलों को भी हवाई मार्ग से जोडऩे जा रही है।  

जल्द निकलेगा जेवर एयरपोर्ट का हल 

यूं तो प्रदेश में तीन सिविल एयरपोर्ट हैं। इनके अलावा आठ वायु सेना व 16 हवाई पट्टियां राज्य सरकार की हैं। इन सभी हवाई अड्डों को घरेलू उड़ानों के लिए भी खोल दिया गया है। इनमें वायु सेना के तीन एयरपोर्ट इलाहाबाद, गोरखपुर व कानपुर से नागरिक उड़ानें शुरू हो गईं हैं। कई और शहरों के लिए भी हवाई उड़ाने शुरू होने वाली हैं। नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट का मामला जल्द सुलझ जाएगा। जेवर एयरपोर्ट के लिए भू अधिग्रहण में जो थोड़ी-बहुत बाधा है, से शीघ्र दूर कर लिया जाएगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.