केजीएमयू के बाद अब लोहिया संस्थान के रेजीडेंट डॉक्टर भी कल से हड़ताल पर, सेवाएं रहेंगी बाधित

केजीएमयू के बाद अब डा. राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान (आरएमएलआइएमएस) के जूनियर रेजिडेंट चिकित्सकों ने भी कल सुबह आठ बजे से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। नीट पीजी की काउंसलिंग में हो रही देरी की वजह से वह चिकित्सा सेवाओं को ठप रखेंगे।

Dharmendra MishraThu, 02 Dec 2021 09:10 AM (IST)
नीट पीजी काउंसिलिंग में देरी को लेकर लोहिया संस्थान के डाक्टर हड़ताल पर।

लखनऊ, जागरण संवाददाता।  केजीएमयू के बाद अब डा. राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान (आरएमएलआइएमएस) के जूनियर रेजिडेंट चिकित्सकों ने भी कल सुबह आठ बजे से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। नीट पीजी की काउंसलिंग में हो रही देरी की वजह से वह चिकित्सा सेवाओं को ठप रखेंगे। ऐसे में जांच और इलाज संबंधी सेवाएं बाधित रहेंगी। इससे ओपीडी आने वाले मरीजों के सामने मुश्किल हो सकती है। 

लोहिया संस्थान के रेजिडेंट डॉक्टरों ने बुधवार को भी नीट पीजी के दाखिलों में देरी के विरोध में प्रदर्शन किया। दोपहर दो बजे के बाद रेजिडेंट डॉक्टरों ने हाथो में बैनर पोस्टर लेकर प्रशासनिक भवन के सामने सांकेतिक विरोध प्रदर्शन शुरू किया। रेजिडेंट एसोसिएशन के महामंत्री डॉ. मनोज ने बताया कि प्रदर्शन में इमरजेंसी में तैनात किसी भी रेजिडेंट को शामिल नहीं किया। वहीं जो रेजिडेंट प्रदर्शन करने आए वो सभी ड्यूटी कर के आए थे। आंकोलोजी विभाग के डा. रौनक ने कहा कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर रेजीडेंट डाक्टर शुक्रवार से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जा रहे हैं। इस दौरान रेडियोलॉजी से लेकर अन्य जांच सेवाएं और ओपीडी का कार्य पूरी तरह ठप किया जाएगा। उनका कहना है कि रेजिडेंट डाक्टरों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।

रात को ड्यूटी और सुबह धरना देते हैं रेजिडेंट डॉक्टरः किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के रेजिडेंट डॉक्टर भी पिछले तीन दिनों से नीट पीजी काउंसलिंग कराए जाने को लेकर धरना दे रहे हैं। इस धरने में जूनियर रेजिडेंट सरकार से पीजी की काउंसलिंग जल्दी से जल्दी कराए जाने की मांग कर रहे हैं। ये सभी मरीजों के इलाज और आकस्मिक चिकित्सा सेवाओं में किसी भी तरह का व्यवधान न आने देने को भरसक प्रयास कर रहे हैं।जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, ओपीडी समेत अलग-अलग विभागों के वार्ड और जांच आदि में कार्यरत रहते हैं।

डा प्रवीण यादव 24 घंटे की इमरजेंसी ड्यूटी करने के बाद बुधवार की सुबह से धरने पर बैठे हैं। वह कहते हैं कि लगातार ड्यूटी करने के बाद भी हम अपनी मांगों को लेकर यहां धरने पर बैठे हैं क्योंकि हमारी मांगे जायज हैं। नए बैच की काउंसलिंग समय पर नहीं हो पा रही है जिसकी वजह से हम पर अधिक दबाव बढ़ गया है।डा. प्रज्जवल दास ट्रामा एनेस्थीसिया में मंगलवार रात को ड्यूटी कर के आए हैं और बुधवार सुबह से धरने में शामिल हैं। धरने पर बैठे डा वासव त्यागी बुधवार की शाम 5:00 बजे से ट्रामा सेंटर के रेडियोलॉजी अल्ट्रासाउंड में ड्यूटी पर जाएंगे। वह कहते हैं कि हमारे धरने से मरीजों को परेशानी न हो इस बात का हम पूरा ख्याल रख रहे हैं। ओपीडी से लेकर इमरजेंसी सेवाओं तक सभी जगह हम कार्यरत हैं।

ओपीडी में भी बुधवार को कुछ लोग जांच करवाने के लिए लाइन में थे तो कुछ ओपीडी में डॉक्टर से खुद को दिखाने के लिए इंतज़ार करते दिखे। बुधवार को कुल 2811 लोगों ने ओपीडी में पंजीकरण करवाया।बालागंज से आए अनुराग को रक्त कैंसर है। सुबह 11 बजे से ओपीडी आए थे। उन्होंने बताया कि ओपीडी की लाइन में तीन घंटे बाद उनका नंबर आया। तब डाक्टर को दिखा सके। बहराइच से आए रामकिशन को पेट से संबंधित बीमारी है। इसके लिए ओपीडी में आए थे। वह सुबह 9 बजे आ गए थे। उन्होंने बताया कि डाक्टर ने उन्हें देखा और दवाएं लिखी हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.