लखनऊ: शिक्षा के अधिकार के तहत निजी स्कूलों में जल्द शुरू होंगे दाखिले

लखनऊ, जेएनएन। नए सत्र में आरटीई के तहत दाखिले की तैयारी शुरू हो गई है। राजधानी के स्कूलों की मैपिंग कर ब्योरा वेबसाइट पर दर्ज कर दिया गया। ऐसे में फरवरी के अंतिम सप्ताह से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो सकती है।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत गरीब बच्चों का निजी स्कूलों में मुफ्त दाखिला होगा। सत्र 2019-2020 के शैक्षणिक सत्र के लिए स्कूलों की वार्ड के आधार पर मैपिंग कराई गई। इससे निजी स्कूल सीमा क्षेत्र का हवाला देकर छात्रों को टरका नहीं सकेंगे। बीएसए डॉ. अमरकांत ने कहा कि राजधानी के स्कूलों की मैपिंग हो गई है। विभाग  का आदेश मिलते ही दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। वहीं अपर निदेशक ललिता प्रदीप ने कहा कि राज्य के अधिकतर जनपदों के ब्योरा वेबसाइट पर अपडेट हो गया है। 20 फीसद काम शेष है। फरवरी के अंतिम सप्ताह से बच्चों के दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

250 सौ से अधिक स्कूल मिले बंद

मैपिंग में गत वर्ष लिस्ट में शामिल स्कूलों को खंगाला गया। स्थलीय निरीक्षण में 250 के करीब विद्यालय कागजों पर ही चलते मिले। यह मौके पर बंद हो चुके हैं। ऐसे ही अल्पसंख्यक विद्यालयों को भी सूची से बाहर कर दिया गया। लिहाजा, विद्यालयों की सूची 1873 से घटकर 1314 हो गई। 

गत वर्ष छह हजार की हो सके दाखिले

मुफ्त दाखिले को लेकर राजधानी के निजी विद्यालय हर बार आनाकानी करते हैं। गत वर्ष 12 हजार छात्रों की लिस्ट जारी की गई थी, मगर छह हजार विद्यार्थियों का ही दाखिला हो सका था। ऐसे ही वर्ष 2017 में साढ़े तीन हजार विद्यार्थियों को ही मुफ्त पढ़ाई का लाभ मिल सका।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.