top menutop menutop menu

लखनऊ में हत्या व लूट के आरोपित पर रासुका की कार्रवाई, जेल में बंद है आरोपित

लखनऊ, जेएनएन। यहियागंज में पान मसाला कारोबारी के यहां हुई लूट व नौकर की हत्या के मामले में चौक पुलिस ने मुख्य आरोपित साजिद के खिलाफ रासुका की कार्यवाही की है। शनिवार को आरोपित पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई। सहायक पुलिस आयुक्त चौक डीपी तिवारी के मुताबिक गौसगंज वजीरगंज निवासी साजिद ने ही वारदात की साजिश रची थी। आरोपित वजीरगंज थाने का हिस्ट्रीशीटर है और उस पर कई मुकदमे दर्ज हैं।

साजिद ने वारदात को अंजाम देने के लिए दुकान की रेकी की थी और अपने साथियों को लखनऊ बुलाया था। यही नहीं आरोपित ने अपने साथियों के ठहरने और वारदात को अंजाम देने के लिए वाहन की व्यवस्था कराई थी। 20 फरवरी 2020 को घटना को अंजाम देने के बाद आरोपितों को शरण देने और उन्हें शहर से बाहर निकालने में भी साजिद ने अहम रोल निभाया था। पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान साजिद को गिरफ्तार किया था। इससे पहले इस मामले में मुंबई से दो आरोपित पकड़े गए थे। एसीपी का कहना है कि सभी आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल किया जा चुका है।

लखनऊ में 19 जनवरी को एक सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया। दो बाइक से आए चार बदमाशों ने दिनदहाड़े दुकान में घुसकर रुपयों से भरे दो बैग लूटे। विरोध पर कारोबारी के नौकर की गोली मारकर हत्या कर दी। हमलावर हवाई फायरिंग करते हुए भाग निकले। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक लूट की रकम के बारे में कारोबारी ने कुछ स्पष्ट नहीं किया है।

पुरानी सरिया मिल ऐशबाग तिलकनगर निवासी राम निवास अग्रवाल की नेहरू क्रास चौराहे पर फर्म है। फर्म से पान मसाला समेत अन्य का थोक कारोबार किया जाता है। हर बार की तरह गुरुवार को बंदी के दिन फर्म में बैंक का काम किया जाता है। गुरुवार दोपहर में दुकान पर राम निवासी, उनके भाई लालता प्रसाद, श्रीराम, खेमचंद्र व उनका बेटा रितेश बैठकर हिसाब करने जा रहे थे। इसी बीच हेलमेट और नकाब पहने चार बदमाशों ने अंदर घुसते ही गोली चलानी शुरू कर दी। बदमाशों ने सभी को गन प्वॉइंट पर ले लिया।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.