Lockdown in Cantt: लखनऊ के कैंट इलाके में 35 घंटे का लॉकडाउन, सब कुछ रहेगा बंद

लखनऊ के छावनी के सैन्य इलाको में सेना 35 घंटे का लॉक डाउन लगाएगी।

लखनऊ के छावनी के सैन्य इलाको में सेना 35 घंटे का लॉक डाउन लगाएगी। यह लॉक डाउन शनिवार रात आठ बजे से शुरू होकर 19 अप्रैल सुबह सात बजे तक रहेगा। इस दौरान सैन्य इलाको के सभी रास्ते भी बंद रहेंगे।

Rafiya NazFri, 16 Apr 2021 07:33 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। छावनी के सैन्य इलाको में सेना 35 घंटे का लॉक डाउन लगाएगी। यह लॉक डाउन शनिवार रात आठ बजे से शुरू होकर 19 अप्रैल सुबह सात बजे तक रहेगा। इस दौरान सैन्य इलाको के सभी रास्ते भी बंद रहेंगे। लॉक डाउन में छावनी का वाकिंग प्लाजा, जिम और अन्य संस्थान बंद रहेंगे। सरदार पटेल रोड से इमरजेंसी सेवा से जुड़े एमईएस सहित अन्य विभागों के लोगो को पहचान पत्र दिखाकर जाना होगा। सेवारत जवानों के फेसमास्क न लगाने पर सीएमपी एक हजार रुपए जुर्माना वसूलेगी। सृष्टि अपार्टमेंट सीलकोरोना के अधिक केस मिलने के कारण सृष्टि अपार्टमेंट को मिनी कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया है।।इस अपार्टमेंट को एलडीए ने सील कर दिया। जरूरी सामान की आपूर्ति यहां समिति के माध्य्म से होगी।

रात्रि कर्फ्यू बना मजाक, पुलिस नदारद: कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। बावजूद इसके लोग लापरवाही बरत रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन करना तो दूर लोग मास्क तक नहीं लगा रहे हैं। संक्रमण रोकने के लिए शुरू किया गया रात्रि कर्फ्यू भी असरदार नहीं दिख रहा। पिछले साल की तुलना में इस बार पुलिस की सख्ती नजर नहीं आ रही है। रात में न तो चेकिंग पॉइंट पर पुलिस नजर आ रही है और न ही लोगों को टोका जा रहा है। वर्ष 2020 में जब कोरोना संक्रमण ने पांव पसारने शुरू किए थे तब पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू की गई थी। कम संसाधनों के बीच पुलिस के सामने संक्रमण को फैलने से रोकना बड़ी चुनौती थी। हालांकि पुलिस ने गंभीरता दिखाई और सख्ती से शारिरिक दूरी का पालन कराना सुनिश्चित कराया। दुकानों के बाहर गोला बनाकर लोगों को मास्क के साथ शारिरिक दूरी का पालन करवाया गया। यही वजह है कि पिछले साल कोरोना का संक्रमण ज्यादा विस्तार नहीं ले सका। अब, जब लखनऊ में रिकॉर्ड तोड़ मरीज सामने आ रहे हैं तो सख्ती के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। खास बात यह है कि पुलिस प्रशासन को यह पता ही नहीं कि किस घर में संक्रमित लोग रह रहे हैं। कंटेंटमेंट जोन के नाम पर पुलिस प्रशासन की तैयारी सवालों के घेरे में हैं। लोग संक्रमित होकर घर में आइसोलेट हो रहे हैं।

इंदिरानगर, आशियाना, तकरोही, मडियांव, गुडंबा, अलीगंज, आलमबाग, कृष्णानगर समेत शहर के कई इलाके ऐसे हैं जहां लोग संक्रमित हैं और उन इलाकों में कंटेंटमेंट जोन नदारद हैं। न तो उन इलाकों को सील किया गया है और न ही लोग यह जान पाया रहे हैं कि किस घर में संक्रमित लोग रह रहे हैं। रात भर सड़कों पर दौड़ रहे वाहन रात्रि कर्फ्यू में इमरजेंसी सेवाओं और मीडियाकर्मियों के अलावा अन्य लोगों के बेवजह निकलने पर प्रतिबंध है। हालांकि रात में सड़कों पर बड़ी संख्या में वाहन दौड़ते नजर आ रहे हैं। पिछले साल की तुलना में न तो बेरिकेडिंग की गई है और न ही पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। खास बात यह है कि रात में पुलिसकर्मी ड्यूटी पॉइंट से नदारद नजर आ रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.