यूपी के कई जिलों में अभी मौसम का सितम जारी, बारिश के कारण हुए हादसों में 13 लोगों की मौत

Heavy Rain In UP उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को भी बारिश का सितम जारी रहा। प्रदेश के कई इलाकों में सुबह बरसात थमने से लोग राहत की सांस लेते नजर आए। वहीं कुछ जिलों में बारिश व बूंदाबांदी जारी रही।

Umesh TiwariFri, 17 Sep 2021 11:00 PM (IST)
उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को भी बारिश का सितम जारी रहा।

लखनऊ [जेएनएन]। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को भी बारिश का सितम जारी रहा। प्रदेश के कई इलाकों में सुबह बरसात थमने से लोग राहत की सांस लेते नजर आए। वहीं, कुछ जिलों में बारिश व बूंदाबांदी जारी रही। चित्रकूट के करही में कच्चा घर ढहने से दो मासूमों और मां व प्रतापगढ़ में घर की दीवार गिरने से दो लोगों की मौत हो गई, जबकि कौशांबी में वज्रपात की चपेट में आने से युवक की मौत हो गई।

वाराणसी में बारिश शुक्रवार को भी कई इलाकों में होती रही। जर्जर मकान गिरने से पति-पत्नी समेत सात लोगों की मौत हो गई और पांच घायल हो गए। इसमें मऊ में दो, आजमगढ़ में तीन, और जौनपुर व गाजीपुर में एक-एक लोगो की मौत हुई है। मऊ में रेलवे ट्रैक की मिट्टी धंस गई इससे कई ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ।

पशु आश्रय स्थल में जलभराव, आठ गोवंशों की मौत : हरदोई के कछौना क्षेत्र के पतसेनी पशु आश्रयस्थल में बारिश से हुए जलभराव में फंसकर आठ गोवंश की मौत हो गई, जबकि छह की हालत गंभीर बनी हुई है। डीएम अविनाश कुमार ने एडीएम व एसडीएम से जांच कराई। जिसके बाद पंचायत सचिव को निलंबित व बीडीओ से जवाब-तलब करने के साथ प्रधान व पशु चिकित्साधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई है। एडीएम ने बताया कि जांच में आठ गोवंश की मौत की पुष्टि हुई है। प्रारंभिक जांच में ग्राम पंचायत अधिकारी संतोष कुमार की लापरवाही सामने आई, जिस पर उन्हें निलंबित कर दिया गया है। कछौना के बीडीओ से जवाब मांगा गया है।

यह भी पढ़ें : CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश- बारिश से पैदा हुई स्थिति से निपटें अधिकारी, पूरी सक्रियता से राहत कार्य में जुटें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.