संविदा कर्मियों के साथ अब डिप्लोमा फार्मासिस्ट भी मैदान में

पांचवें दिन संविदा कर्मियों के धरना प्रदर्शन के बाद अब अपनी मांगों को लेकर डिप्लोमा फार्मासिस्ट आंदोलन की राह पर है

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 10:43 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 10:43 PM (IST)
संविदा कर्मियों के साथ अब डिप्लोमा फार्मासिस्ट भी मैदान में
संविदा कर्मियों के साथ अब डिप्लोमा फार्मासिस्ट भी मैदान में

लखीमपुर : पांचवें दिन संविदा कर्मियों के धरना प्रदर्शन के बाद अब अपनी मांगों को लेकर डिप्लोमा फार्मासिस्ट भी आंदोलन की राह पर हैं। 20 सूत्री मांगों को लेकर शुरुआती दौर में पहले दिन एक दिवसीय सांकेतिक धरना सीएमओ कार्यालय परिसर में दिया। परिसर में संविदा कर्मियों की नारेबाजी के साथ-साथ डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के कर्मचारियों की नारेबाजी भी गूंजती रही।

डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. अशोक कुमार कनौजिया के मुताबिक प्रभार भत्ता बढ़ाए जाने, उपकेंद्रों तथा वेलनेस सेंटर पर तैनात किए जाने वाले सीएचओ की न्यूनतम शैक्षिक योग्यता में डिप्लोमा फार्मेसी बैचलर फार्मेसी शामिल किए जाने आदि मांगों को लेकर आंदोलन शुरू किया है।

सीएमओ कार्यालय परिसर में पहले दिन धरना दे रहे डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के तहत मंत्री डा. अनिल कुमार ने बताया कि 20 सूत्री मांगे हैं, यदि इनपर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया गया तो सारे कर्मचारी और अधिकारी आंदोलन करेंगे। इसके क्रम में पहले पांच दिसंबर से आठ दिसंबर तक काला फीता बांधकर ध्यान आकर्षित करेंगे, इसके बाद नौ दिसंबर से 16 दिसंबर तक फार्मासिस्ट संवर्ग के सभी अधिकारी कर्मचारी सुबह दो घंटे का कार्य बहिष्कार करेंगे। 17 दिसंबर से 19 दिसंबर तक पूरी तरह कार्य बहिष्कार करेंगे। जिसमें आकस्मिक सेवाएं जारी रहेंगी। 20 दिसंबर से फिर अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी। इस दौरान डा. आरके गुप्ता, डा. भूपेंद्र वर्मा, डा. आशीष निरंकारी, महंथ सिंह व अमरेंद्र सिंह समेत काफी संख्या में फार्मासिस्ट मौजूद रहे।

उधर दूसरी तरफ पांच दिनों से लगातार चल रहे संविदा कर्मियों के धरने में शनिवार को भी जोश दिखाई दिया। जिलाध्यक्ष विकास श्रीवास्तव के नेतृत्व में इस धरने में आशाएं एएनएम तथा संविदा के चिकित्सक इत्यादि सभी शामिल रहे। संविदा कर्मियों की प्रदेश व्यापी हड़ताल के चलते अब स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रभावित होने लगी हैं। टीकाकरण सैंपलिग से लेकर अन्य सभी सेवाओं में रुकावट आ रही है। संविदा कर्मी करेंगे मुख्यमंत्री कार्यालय का घेराव

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ के बैनर तले हड़ताल के पांचवें दिन संविदा कर्मचारियों ने शंख बजाकर शासन प्रशासन को जगाने का प्रयास किया। जिलाध्यक्ष विकास श्रीवास्तव ने कहा कि सात दिसंबर को अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय का घेराव करेंगे। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद तथा अटेवा ने भी दिया समर्थन

संविदा कर्मियों की हड़ताल के पांचवें दिन राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद तथा युवा संगठन ने भी अपना समर्थन दिया। इस दौरान राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष महंथ सिंह ने संविदा कर्मचारियों से कहा कि संविदा कर्मचारियों की लड़ाई में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद का एक-एक सदस्य उनके साथ है। अटेवा से विश्वनाथ मौर्य ने भी संविदा कर्मचारियों की हड़ताल को संबोधित किया।