तेरहवीं बार संभाली एक ही परिवार ने गांव की कमान

तेरहवीं बार संभाली एक ही परिवार ने गांव की कमान

लखीमपुर ग्राम पंचायत कंधरापुर में आजादी के बाद से एक ही परिवार प्रधानी की बागडोर संभाले

JagranSun, 09 May 2021 10:43 PM (IST)

लखीमपुर: ग्राम पंचायत कंधरापुर में आजादी के बाद से एक ही परिवार प्रधानी की बागडोर संभाले हुए है। रात दिन ग्रामीणों के साथ सेवाभाव से जुड़े रहने वाले वर्तमान प्रधान पति ने गांव का विकास कर लोगों के दिलों में ऐसा विश्वास पैदा किया है कि ग्रामीण हर बार उन्हें ही मुखिया चुनते हैं।

कंधरापुर की प्रधान मीना देवी के पति प्रदीप वर्मा उर्फ पप्पू ने बताया कि वर्ष 1957 को उनके पिता छविनाथ वर्मा ने गांव के कांशीराम को चुनाव लड़वाया। वह चुनाव भारी मतों से जीत गए। वर्ष 1957 से 1971 तक लगातार तीन बार प्रधान रहे। कांशीराम की मौत के बाद प्रदीप वर्मा ने मां जसवीर को चुनाव लड़वाया और वह 1995 तक लगातार पांच बार गांव की प्रधान रहीं। वर्ष 1995 को हरिजन सीट हो जाने पर उन्होंने फूलचंद को चुनाव लड़ाकर जीत दिलवाई। वर्ष 2000 को सीट बदल जाने पर उन्होंने भाभी ऊषा को चुनाव में उतारा और गांव की जनता ने उनपर विश्वास कर जितवा दिया। वर्ष 2005 में ग्राम सभा बौधी कलां की अनीशा बेगम ने ग्राम पंचायत कंधरापुर में पहली बार जीत हासिल कर एक ही परिवार में चले आ रहे विजय अभियान पर रोक लगा दी। अगले वर्ष 2010 में प्रदीप ने पत्नी मीना देवी को चुनाव में उतारा जो भारी मतों से चुनाव जीतीं। वर्ष 2015 में ग्राम सभा बौधी कलां के अलग हो जाने पर फिर प्रदीप की पत्नी विजयी हुईं। इस बार भी गांव की जनता ने उनपर भरोसा कर अपने गांव की मुखिया बना दिया। इस तरह उन्होंने गांव की जनता के विश्वास को जीतकर उन्होंने 13वीं बार ग्राम प्रधान की गद्दी संभाली है।

घर में घुसकर पिटाई, हवाई फायरिग कर फैलाई दहशत चुनाव जीते प्रत्याशी व पुत्री को घर में घुसकर गांव के ही चार लोगों ने लाठी डंडों से पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया और जाते हुए हवाई फायरिग करते हुए जान से मारने की धमकी देकर भाग गए। पुलिस ने चारों आरोपितों के विरुद्ध केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

ग्राम सरैंया विलियम निवासी असर अहमद ने तहरीर दी कि छह मई को वह अपने घर पर था। आरोप है कि तभी गांव के जयसिंह, शिवसिंह व मकसद अली नयूम रविवार को उसके घर पर आए और कहा कि तुम चुनाव जीत गए हो तो पटाके दगा रहे हो। पीड़ित ने कहा कि हम पटाके नहीं दगा रहे हैं न ही कोई कानून का उल्लंघन कर रहे हैं। इतने में उपरोक्त लोगों ने उसे लाठी-डंडों से काफी मारा पीटा। जिससे उसके सिर में काफी चोटें आई। साथ में उसकी बेटी चुन्नी बेगम के हाथ पर भी लाठियां मारी। उसे भी काफी चोटें आईं हैं। उक्त आरोपित जाते समय हवाई फायरिग करते हुए जान से मारने की धमकी देकर भाग गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.