दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

ड्यूटी पर नहीं आने वाले कर्मचारियों का वेतन रोकने का आदेश

ड्यूटी पर नहीं आने वाले कर्मचारियों का वेतन रोकने का आदेश

अंतरराष्ट्रीय पर्यटक केंद्र व बौद्ध महातीर्थ स्थल कुशीनगर में भगवान बुद्ध की 2565 वीं जयंती 26 मई को प्रशासन की अनुमति से कोरोना प्रोटोकाल के तहत मनाई जाएगी। हालांकि इसके पहले बुद्ध पूर्णिमा को म्यांमार बुद्ध मंदिर से कुशीनगर भिक्षु संघ के तत्वावधान में जुलूस निकलता था।

JagranSat, 08 May 2021 12:00 AM (IST)

कुशीनगर: कोरोना की रोकथाम को लेकर शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों संग हुई बैठक में जिलाधिकारी एस राजलिगम पूरी तरह से तल्ख दिखे। कोरोनाकाल में ड्यूटी पर नहीं आने वाले सभी अधिकारियों, कर्मचारियों का वेतन रोकने का आदेश दिए। कई मुद्दों पर अनियमितता हेतु कोविड डयूटी में लगे अधिकारियों को फटकार लगाई। एमसीएच विग के कोविड अस्पताल के नोडल अधिकारी को मीटिग हाल में बैठकर ही होमवर्क करने का निर्देश देते हुए कहा कि जब तक वर्क पूरा नही होगा, संबंधित अधिकारी मीटिग हाल के बाहर नही जाएंगे।

डीएम ने पूछा कि मरीजों के लिए पर्याप्त बेड की व्यवस्था है कि नहीं। निरंतर शिकायत मिल रही है कि बेड के अभाव में मरीजों को जमीन पर लिटाया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाई एवं तत्काल समस्या दूर करने को कहा।

इस दौरान लैब को फंक्शनल करने का निर्देश दिया और कहा कि पैसे की कमी नहीं होने दी जाएगी। इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत होना चाहिए। रेमडेसिविर लगवाने के मानक के संबंध में भी पूछताछ की। मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, अपर पुलिस अधीक्षक अयोध्या प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. नरेन्द्र गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. बजरंगी पांडेय उपस्थित रहे।

कोरोना के साए में मनेगी 2565 वीं बुद्ध जयंती

अंतरराष्ट्रीय पर्यटक केंद्र व बौद्ध महातीर्थ स्थल कुशीनगर में भगवान बुद्ध की 2565 वीं जयंती 26 मई को प्रशासन की अनुमति से कोरोना प्रोटोकाल के तहत मनाई जाएगी। हालांकि इसके पहले बुद्ध पूर्णिमा को म्यांमार बुद्ध मंदिर से कुशीनगर भिक्षु संघ के तत्वावधान में जुलूस निकलता था। पूर्व संध्या पर महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर में विशेष पूजा होती थी। इसमें कुशीनगर स्थित सभी बुद्ध मंदिरों की सहभागिता रहती थी।

जुलूस महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर की परिक्रमा कर कसया जाता था और लौटने के बाद म्यांमार बुद्ध मंदिर परिसर में धम्म सभा होती थी। कुशीनगर भिक्षु संघ के अध्यक्ष एबी ज्ञानेश्वर ने कहा कि प्रशासन की अनुमति से कोरोना प्रोटोकाल के तहत बुद्ध पूर्णिमा समारोह का आयोजन होगा। विशेष पूजा व शोभा यात्रा के लिए उच्चाधिकारियों से अनुमति ली जाएगी। धम्म सभा खुले में न होकर इस वर्ष धम्म हाल में होगी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण कुशीनगर के संरक्षण सहायक शादाब खान ने कहा कि फिलहाल निदेशक (स्मारक) के आदेश पर 15 मई तक बुद्ध मंदिर बंद है। उच्चाधिकारियों के आदेश के बाद ही परिसर में 25 मई को विशेष पूजा और 26 मई को शोभायात्रा निकालने की अनुमति दी जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.