कुशीनगर में लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

कुशीनगर जिले के प्रमुख कस्बों सहित गांवों में भी जलभराव की समस्या बारिश ने खोल कर रख दी जलनिकासी व्यवस्था की पोल।

JagranTue, 15 Jun 2021 12:08 AM (IST)
कुशीनगर में लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

कुशीनगर : रविवार रात से शुरू बूंदाबादी शनिवार की शाम तक मूसलधार बारिश के रूप में बदल गई। आम जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। मोहल्लों की बात तो दूर फोरलेन की पटरी पर भी जलभराव की समस्या है। आवागमन पूरी तरह से प्रभावित रहा। दो दिन की बंदी के बाद दुकानें तो खुलीं, लेकिन बारिश ने बाजार की रौनक छीन ली।

नगर के पडरौना-रामकोला मार्ग पर जलभराव की समस्या खड़ी हो गई और लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। सबसे खराब स्थिति पडरौना-कठकुइयां मार्ग पर देखने को मिली। घुटने तक पानी लग गया। मोहल्लों की हालत पूरी तरह से बद्तर हो गई। अनेक स्थानों पर जाम नालियों का पानी सड़क पर आकर बहने लगा। संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका भी खड़ी हो गई है।

सुकरौली बाजार में जल निकासी की उचित व्यवस्था न होने से कस्बे के प्रमुख मार्गों के अलावा हाईवे के सर्विस रोड पर जल जमाव की समस्या खड़ी हो गई है। कस्बा स्थित सरकारी कार्यालयों के अलावा लोगों के दरवाजे पर भी पानी जमा होने से घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। राजमार्ग के किनारे बने सर्विस रोड पर लबालब पानी भर गया है। विश्वजीत त्रिपाठी, चंदन, रवींद्र, वरूण आदि का कहना है कि सफाई न होने से सर्विस रोड के किनारे बनीं नालियां जाम हैं। कप्तानगंज में सुभाष नगर के पास कप्तानगंज से पडरौना को जाने वाली एन एच 730 की सर्विस रोड की दोनों पटरियां जलमग्न हो गई हैं, जिससे लोगों का घरों से निकलना दुश्वार हो गया है।

मोहल्ले के डा. उपेन्द्र सिंह,गोलू मिश्रा, राम प्रताप सिंह, विनोद कुमार गोविद राव, अरुण कुमार सिंह, पंडित आर के मिश्रा, उपेन्द्र प्रताप राव, राकेश पाण्डेय, बैजनाथ मिश्र आदि ने बताया कि इसके पूर्व जो नाली बनी थी उसका पानी सीधे बन्देलीगंज नाले में गिरता था। मूसलधार बारिश में भी पानी रुकता नहीं था। जब से एनएच का नाला बना है, पानी का बहाव उल्टा होने के कारण यह समस्या हर समय बनी रहती है।

आंधी-तूफान को लेकर प्रशासन ने किया अलर्ट

मौसम विज्ञान विभाग लखनऊ द्वारा जारी चेतावनी के अंतर्गत 16 जून तक पूर्वी क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर आंधी-तूफान, भारी वर्षा एवं वज्रपात की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन ने सभी अधिकारियों को अलर्ट किया है। सोमवार की देर शाम एडीएम विध्यवासिनी राय ने सभी एसडीएम व तहसीलदार एवं लेखपालों को निर्देशित किया है कि वे अपने कार्य क्षेत्र में क्रियाशील रहते हुए प्रतिदिन सुबह आठ बजे तक किसी प्रकार की घटित घटना के बारे में सूचना वाट्सएप ग्रुप के माध्यम भेजना सुनिश्चित करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.