कुशीनगर में लंबित परियोजनाओं को समय से पूरा करने के निर्देश

कुशीनगर में लंबित परियोजनाओं को समय से पूरा करने के निर्देश

कुशीनगर में दिशा की बैठक में जनप्रतिनिधियों ने रखीं समस्याएं जिलाधिकारी ने दिए अधिकारियों को दिए समाधान के निर्देश।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 11:52 PM (IST) Author: Jagran

कुशीनगर: जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। इस दौरान केंद्र व राज्य सरकार की प्राथमिकता से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा की गयी। लंबित परियोजनाओं को समय से पूरा करने के निर्देश दिए गए।

अध्यक्षता करते हुए सांसद विजय कुमार दुबे ने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा उठायी गईं समस्याओं का निराकरण अधिकारी प्राथमिकता के साथ कराएं। समस्याओं के निराकरण में देरी होने से नागरिकों में गलत संदेश जाता है साथ ही सरकार की छवि प्रभावित होती है। देवरिया सांसद डा.रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि बैठक का उद्देश्य अधिकारी व जनप्रतिनिधि की संयुक्त मौजूदगी में संचालित योजनाओं की समीक्षा करना है ताकि कमियां सामने आने पर उसके निराकरण के लिए जरूरी कदम उठाएं जा सकें। कहा कि समाधान व चर्चा औपचारिकता नहीं बल्कि प्रमाणिकतायुक्त होनी चाहिए। सभी हर सहयोग के लिए हमेशा तत्पर हैं जिससे कि जिले में विकास का नया आयाम स्थापित किया जा सके। विधायक जटाशंकर त्रिपाठी ने मनरेगा से संबंधित सभी विभागों में हुए कार्यो व खर्च धनराशि का विवरण उपलब्ध कराए जाने की मांग की। सीडीओ अन्नपूर्णा गर्ग ने बताया कि केंद्रांश व राज्यांश समेत जिले में 19978.70 लाख के सापेक्ष सौ फीसद कार्य हो चुके हैं। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत 1521 व्यक्तियों को 100 दिन का रोजगार दिया गया। समाज कल्याण विभाग द्वारा वृद्धा पेंशन /किसान योजना के तहत सौ फीसद बजट खर्च किया गया। अभी 4238 का आवेदन पत्र लंबित हैं। ग्रामीण सड़क योजना के तहत 5.05 किमी रामकोला नौरंगिया से मोरवन तक व कौव्वासार से बरवा रतनपुर तक 6.30 किमी सड़कें स्वीकृत हुईं थीं, जो पूर्ण हो गई हैं। बैठक में प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना, जल निगम, आपूर्ति, विद्युत, टेलीफोन आदि विभागों की भी समीक्षा की गयी। जनप्रतिनिधियों ने जल निगम की प्रस्तावित पेयजल परियोजनाओं को मार्च 2021 तक हर हाल में प्रारंभ कराने, पंचायत भवनों के निर्माण में गुणवत्ता मानकों का पालन कराने की बात उठायी। डीएम एस राज लिगम ने मिले सुझावों का अनुपालन कराए जाने का आश्वासन दे संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। इससे पूर्व पिछली बैठक में उठाए गए समस्याओं व उनके निराकरण पर चर्चा हुई। जनप्रतिनिधियों ने संतोष जताया।

विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, पवन केडिया, गंगा सिंह कुशवाहा, रामानंद बौद्ध, उप्र बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष विनय गौड़, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेमचंद्र मिश्र, एसपी विनोद कुमार सिंह, एडीएम विध्यवासिनी राय, सीएमओ डा. एनपी गुप्ता, डीडीओ शेषनाथ चौहान, डीसी मनरेगा प्रेमप्रकाश सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.