कुशीनगर में योजना के बावजूद नहीं बदली स्कूलों की सूरत

कुशीनगर में योजना के बावजूद नहीं बदली स्कूलों की सूरत

कुशीनगर में परिषदीय विद्यालयों के कई स्कूलों में टूटी है फर्श जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यानउचित जवाब देने से बचते रहे खंड शिक्षा अधिकारी।

JagranMon, 01 Mar 2021 12:10 AM (IST)

कुशीनगर: कायाकल्प के नाम पर परिषदीय स्कूलों में बड़ी धनराशि खर्च की जा रही है। पर धरातल पर यह नजर नहीं आ रहा है। क्षेत्र के कई स्कूल आज भी सुविधाविहीन हैं। फर्श टूटी है। विद्यालयों के परिसर अतिक्रमण का शिकार हो गए हैं। यह सब जिम्मेदारों की जानकारी में है मगर वह कुछ नहीं कर रहे हैं।

फाजिलनगर ब्लाक का प्राथमिक विद्यालय लवकुश पश्चिमपट्टी, पूरब पट्टी, फुरसतपुर व हाटा इसका उदाहरण हैं। इन स्कूलों में कायाकल्प योजना के तहत हुए कार्य महज कागजी हैं। इन स्कूलों में दीवारों पर टाईल्स लगाने का कार्य अबतक नहीं हुआ है। इसी तरह मल्टीपल हैंडवाश, शुद्ध जल आदि की भी व्यवस्था नहीं हुई है। प्राथमिक विद्यालय लवकुश पश्चिम पट्टी अतिक्रमण का शिकार हो गया है इसकी चहारदीवारी भी नहीं है। जबकि इन स्कूलों के रंग-रोगन समेत अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया कराए जाने के लिए कायाकल्य योजना के तहत सरकार द्वारा बड़ी धनराशि खर्च की जा रही है। इस संबंध में जब खंड शिक्षा अधिकारी अजय तिवारी से बात की गई तो वे कुछ भी बोलने से बचते रहे।

आज से चलेंगी कक्षा एक से पांच तक की कक्षाएं

11 महीने से प्राथमिक विद्यालयों में ठप रहा पठन-पाठन सोमवार से शुरू हो जाएगा। इस दौरान एक से पांच तक की कक्षाएं संचालित होंगी। विगत दो दिन से शिक्षक विद्यालयों में साफ-सफाई के साथ अन्य व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देने में जुटे रहे। बच्चों की संख्या के हिसाब से शैक्षणिक गतिविधियां संचालित होंगी। स्कूलों में शारीरिक दूरी के अनुपालन के साथ पढ़ाई होगी। शिक्षक भी विद्यालय खुलने को लेकर उत्साहित हैं।

सरकार ने एक मार्च से कक्षा एक से पांच तक के स्कूल खोलने के निर्देश दिए हैं। जनपद में प्राथमिक स्कूलों की कुल संख्या 2464 है, तो 1367 निजी विद्यालय पंजीकृत हैं। एडीएम विध्यवासिनी राय ने बताया कि कोरोना प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए विद्यालय खुलेंगे। इसके लिए सभी को जरूरी निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

मास्क लगाना अनिवार्य

कोविड-19 प्रोटोकाल का अनुपालन करना अनिवार्य होगा। स्कूलों को नियमित सेनिटाइज कराने के साथ ही सामान्यतया स्पर्श किए जाने वाली सतहें जैसे दरवाजे की कुंडी, डैशबोर्ड, डस्टर, बेंच, डेस्क आदि सेनिटाइज करना होगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.