न्याय चला निर्धन के द्वार का गूंजा संदेश

कुशीनगर: विधिक जागरूकता पखवारा के तहत दीवानी न्यायालय परिसर में शनिवार को न्याय चला निर्धन से मिलने कार्यक्रम के तहत जागरूकता रैली निकाली गई। इसमें न्यायिक अधिकारी व अधिवक्ता स्लोगन लिखे हाथ में तख्ती लेकर पूरे परिसर में भ्रमण किए। इस रैली का उद्देश्य जनता को विधिक सेवाओं की जानकारी, निश्शुल्क विधिक सहायता प्राप्त करने के लिए पात्र का चयन, लोक अदालत, स्थाई लोक अदालत, त्वरित न्याय आपका अधिकार आदि की जानकारी कराना है। रैली रवाना होने से पूर्व एसीजेएम चंद्रमोहन चतुर्वेदी ने कहा कि समाज के अति पिछड़े महिला, बच्चे, मानसिक रोगी, दिव्यांग, जाति ¨हसा, बाढ़, सूखा भूकंप आदि दैवीय आपदा से प्रभावितों को निश्शुल्क विधिक सहायता उपलब्ध कराने का प्रावधान है। लोक अदालत विवादों को समझौते के माध्यम से सुलझाने के लिए एक वैकल्पिक मंच है। महिलाओं, बालकों, विचाराधीन, सिद्ध दोष, बंदियों सहित समाज के विभिन्न निर्बल, निर्धन तथा वंचित व्यक्तियों को सक्षम व निश्शुल्क कानूनी सहायता प्रदान की जाती है। कार्यक्रम को न्यायिक मजिस्ट्रेट अनुपम त्रिपाठी, सिविल जज जूनियर डिवीजन अमन श्रीवास्तव, संघ के अध्यक्ष राकेश त्रिपाठी आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर महामंत्री दीपनारायण मणि त्रिपाठी, आनंद राय, अभिनव राव, गोपाल श्रीवास्तव, सुरेंद्र लाल श्रीवास्तव, ओमप्रकाश पांडेय, र¨वद्र मणि त्रिपाठी, मुकुल गोंड, आनंद यादव, बलवंत त्रिपाठी, गिरिजेश श्रीवास्तव, अमरनाथ ¨सह, ओमप्रकाश वर्मा, महंथ रामशरण दास, गोपाल, विजय मद्धेशिया, ब्रजेश, विश्वनाथ आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.