कुशीनगर में क्षतिग्रस्त सड़कों से बढ़ी मुसीबत, यात्रा मुश्किल

कुशीनगर में गड्ढामुक्त सड़कों का सरकार का दावा पूरी तरह फेल हो गया है समस्या के प्रति अधिकारी भी उदासीन हैं जहां मरम्मत के लिए गिट्टी गिराई गई वहां आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।

JagranThu, 23 Sep 2021 01:08 AM (IST)
कुशीनगर में क्षतिग्रस्त सड़कों से बढ़ी मुसीबत, यात्रा मुश्किल

कुशीनगर : पडरौना तहसील क्षेत्र की क्षतिग्रस्त सड़कें मुसीबत का कारण बन रही हैं। गड्ढों की वजह से यात्रा मुश्किल हो गई है। शासन का गड्ढामुक्त सड़कों का दावा पूरी तरह फेल दिख रहा है। सूरजनगर-रामकोला सड़क पर बिछाई गई गिट्टी की वजह से आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।

क्षेत्र के गोविद मिश्र, उमाशंकर मिश्र, सत्यप्रकाश मिश्र, गोपी श्रीवास्तव, जैकी शुक्ल, संतोष यादव, हरिलाल प्रजापति आदि का कहना है कि विभाग के अधिकारी सड़कों की दुर्दशा को लेकर गंभीर नहीं हैं। इस वजह से समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। सूरजनगर बाजार से मठिया होकर रामकोला जाने वाली सड़क की मरम्मत के लिए करीब दो माह पहने सड़क को तोड़कर गिट्टी गिराई गई थी। ठीकेदार का पता ही नहीं है। कब तक निर्माण पूरा होगा कोई बताने वाला नहीं है। जनार्दन यादव, संतोष कुमार, विनोद कुशवाहा, दुर्गाशंकर मिश्र, लालबिहारी शर्मा, रसीद, अनिल आदि ने प्रशासन से शीघ्र सड़क की मरम्मत कराने की मांग की है।

---

कुबेरनाथ-कठकुइयां मार्ग गड्ढे में तब्दील

कुबेरस्थान: पडरौना ब्लाक की कुबेरस्थान-कठकुइयां सड़क का निर्माण डेढ़ दशक पहले हुआ था। यह सड़क पड़ोसी प्रांत बिहार के गांवों को जोड़ती है। क्षेत्र के ईंट भट्ठों की ओवरलोड ट्रैक्टर ट्रालियां इसी सड़क से गुजरती हैं। भारी वाहनों के आवागमन की वजह से सड़क जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो गई है। इससे बड़गांव, सिकटा, अमवां बुजुर्ग, बतरौली, सिघनजोड़ी, घोरघटिया, कोहरवलिया, गांगरानी समेत दर्जनों गांव के लोगों को आवागमन में दुश्वारियां झेलनी पड़ रही है। श्रीप्रकाश तिवारी, रामायण यादव, विनोद उपाध्याय, जयकिशन यादव, उपेंद्रनाथ पांडेय, कन्हैया सिंह, दुर्गादयाल त्रिपाठी, अरुण दूबे, दारोगा अंसारी आदि का कहना है कि इस समस्या से कई बार जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया गया पर समाधान नहीं हुआ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.