जरूरत के हिसाब से बढ़ाए जाएंगे मतगणना टेबल

जरूरत के हिसाब से बढ़ाए जाएंगे मतगणना टेबल

कुशीनगर में डीएम एसपी ने लिया मतगणना केंद्र का जायजा दिए निर्देश कोविड-19 गाइड लाइन का सख्ती से कराया जाएगा अनुपालन।

JagranWed, 14 Apr 2021 01:04 AM (IST)

कुशीनगर : जिलाधिकारी एस राजलिगम व पुलिस अधीक्षक सचिद्र पटेल ने मंगलवार को खड्डा कस्बा स्थित श्रीगांधी इंटरमीडिएट कालेज परिसर में बनाए गए मतगणना केंद्र का जायजा लिया। उन्होंने एसडीएम अरविद कुमार व तहसीलदार डा. एसके राय से मतगणना के लिए लगाए जाने वाले टेबल की जानकारी ली। कहा कि जरूरत के हिसाब से टेबल की संख्या बढ़ाई जा सकती है।

डीएम ने कहा कि मतगणना के दौरान कोविड-19 की गाइडलाइन का बखूबी पालन सुनिश्चित कराया जाएगा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना के लिए खड्डा ब्लाक का केंद्र श्रीगांधी इंटर कालेज में बनाया गया है। स्ट्रांग रूम का जायजा लेने के बाद सुरक्षा व गतिविधियों पर निगरानी रखने के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाने, एजेंट व उम्मीदवार के बैठने के लिए टेंट लगाने का निर्देश दिया। परिसर की सफाई व स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करते हुए डीएम ने कहा कि मतपेटिका रखने के बाद उससे छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। स्ट्रांग रूम में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। कक्षों के बाहर बरामदे की बैरिकेडिग करा जाली लगाई जाएगी। बारिश की आशंका को ध्यान में रखकर मतगणना टेबल के सामने तिरपाल की व्यवस्था करनी होगी। एसडीएम ने डीएम को बताया कि मतगणना केंद्र से ही पोलिग पार्टियों की रवानगी होगी। विद्यालय के समीप बन रही सड़क का निर्माण शीघ्र पूर्ण कराने का डीएम ने निर्देश दिया। एसपी ने सीओ व प्रभारी निरीक्षक को मतगणना के दिन केंद्र पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करने व सड़कों पर दो सौ मीटर दूर बैरिकेडिग कराने को कहा। नायब तहसीलदार रवि यादव, सीओ शिवाजी सिंह, एडीओ पंचायत सीताराम, प्रभारी निरीक्षक आरके यादव, ईओ देवेश मिश्र, रजिस्ट्रार कानूनगो अशोक यादव, कस्बा इंचार्ज रमाशंकर सिंह यादव, मधुकर श्रीवास्तव, रवि मिश्र आदि मौजूद रहे।

स्कूलों को नोटिस सांसत में संचालक

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर एआरटीओ ने सभी स्कूलों को नोटिस भेज संचालकों से बसों की डिमांड की है। स्कूलों में बड़ी व छोटी तथा मैजिक मिलाकर कुल 355 से अधिक वाहन चलते हैं। संचालकों को निर्धारित समय पर संबंधित ब्लाकों पर इन वाहनों को पहुंचाने का निर्देश दिया गया है। स्कूल संचालक इस बात को लेकर सांसत में हैं कि लाकडाउन के बाद स्कूल खुलने पर भी स्कूल के वाहन चले ही नहीं। फिटनेस के साथ इंश्योरेंस भी खत्म हो चुका है। वेतन न मिलने से चालक घर पर बैठे हैं। ऐसे में वाहनों को कैसे भेजा जाए।

3000 हजार वाहनों की आवश्यकता

पोलिग पार्टियों को लेकर जाने के लिए जनपद में 3000 हजार वाहनों की आवश्यकता है, जिसमें 1100 बड़ी, 1500 छोटी तथा 400 ट्रक शामिल हैं। इसमें शामिल स्कूल के 355 वाहनों को नोटिस में दिए गया है। 26 अप्रैल की शाम तक वाहनों को भेजने को कहा गया है।

कम पड़ेंगे 300 वाहन, मंडल से की गई डिमांड

विभाग का कहना है कि उपलब्धता व डिमांड में कमी की वजह से 300 वाहन कम पड़ेंगे। मंडल स्तर पर उच्चाधिकारियों को पत्र भेज इससे अवगत कराया गया है।

आरटीओ को बताई समस्या

स्कूल संचालकों का कहना है कि स्कूल बंद होने के चलते लगभग एक साल से वाहन खड़े हैं। ऐसे में समझ में नहीं आ रहा कि इनको चुनाव में इस्तेमाल के लिए कैसे भेजा जाए। दिक्कतों से एआरटीओ को अवगत भी करा दिया गया है।

एआरटीओ संदीप कुमार पंकज ने कहा कि फिटनेस व इंश्योरेंस खत्म होने वाले वाहनों की वैधता 30 जून तक बढ़ा दी गई है। स्कूल संचालकों की समस्या भले ही है, लेकिन चुनाव के इस महापर्व में उन्हें व्यवस्था करनी होगी। पोलिग पार्टियों के लिए संबंधित ब्लाकों व ट्रकें स्टेडियम में तथा छोटी गाड़ियां बुद्धा पार्क में लानी होंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.