युवक का अपहरण कर भूमि कराया बैनामा, केस दर्ज, जांच शुरू

मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के ओसा गांव में एक युवक का अपहरण कर कुछ लोगों ने उसकी भूमि का रजिस्ट्री आफिस ले जाकर बैनामा करा लिया। इसकी जानकारी जब युवक के भाई को हुई तो उसने उचाधिकारियों से शिकायत की। कोतवाली में कार्रवाई न होने पर पीड़ित ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ शुक्रवार को केस दर्ज किया।

JagranSun, 26 Sep 2021 12:27 AM (IST)
युवक का अपहरण कर भूमि कराया बैनामा, केस दर्ज, जांच शुरू

कौशांबी। मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के ओसा गांव में एक युवक का अपहरण कर कुछ लोगों ने उसकी भूमि का रजिस्ट्री आफिस ले जाकर बैनामा करा लिया। इसकी जानकारी जब युवक के भाई को हुई तो उसने उच्चाधिकारियों से शिकायत की। कोतवाली में कार्रवाई न होने पर पीड़ित ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ शुक्रवार को केस दर्ज किया।

ओसा निवासी दुर्गा प्रसाद खेती करके परिवार का भरण पोषण करता है। उसका कहना है कि गांव के ही रामकुमार व अशर्फी लाल उसके भाई के हिस्से की भूमि पर कब्जा करना चाहते हैं। इसे लेकर दो माह पहले दोनों ने दुर्गा प्रसाद के भाई का अपहरण किया। इसके बाद उसे लेकर मंझनपुर तहसील पहुंचे। रजिस्ट्री कार्यालय में उसके हिस्से की भूमि का फर्जी दस्तावेज के आधार पर बैनामा करा लिया। इसकी जानकारी जब माह भर पहले दु्र्गा प्रसाद को हुई तो होश उड़ गए। शिकायत के बावजूद न तो थाने में कार्रवाई हुई और न ही आला अफसरों ने सुनवाई की। इस पर दुर्गा प्रसाद ने अदालत का सहारा लिया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने राजकुमार व अशर्फी लाल के खिलाफ केस दर्ज किया। युवक ने हड़पी चाचा व भतीजे की मजदूरी

मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के अंबावां का मजरा सोनरन का पूरा गांव के चाचा व भतीजे की मजदूरी पूर्व प्रधान ने हड़प ली। मामले में पुलिस ने पूर्व प्रधान समेत तीन लोगों के खिलाफ शुक्रवार को केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सोनारन का पूरा निवासी बच्चालाल की पत्नी संगीता देवी ने बताया कि समदा निवासी पूर्व प्रधान पिटू केसरवानी पुत्र ओंकार नाथ ने दो माह पहले उसके बेटे व देवर से मजदूरी कराई। कई दिनों की मजदूरी रोककर पूर्व प्रधान ने बाद में देने की बात कही। कई बार मांगने के बावजूद टालमटोल किया गया। बाद में पूर्व प्रधान ने मजदूरी देने से इन्कार कर दिया। शिकायत के बावजूद न तो कोतवाली में कार्रवाई की गई और न ही आला अफसरों ने सुनवाई की। इस पर संगीता देवी ने अदालत का सहारा लिया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने पिटू केसरवानी समेत दो अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.