top menutop menutop menu

मुखबिरी के शक में सगे भाइयों को अगवा कर मारी गोली, एक गंभीर

संसू, नारा : मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के सईदाबाद नारा गांव में घर के बाहर सो रहे सगे भाइयों का अपहरण कर सशस्त्र बदमाशों ने जमकर पीटा और भागते समय गोली मार दी। इससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं पीड़ित पक्ष ने गांव के ही विपक्षियों पर आरोप लगाते हुए उनके घर में तोड़फोड़ की। मौके पर पहुंचे पुलिस अफसरों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। एक घायल युवक की पत्नी की तहरीर पर पुलिस ने 21 नामजद लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामला मुखबिरी के शक का बताया गया है।

सईदाबाद नारा निवासी मोहम्मद हनीफ के बेटे पप्पू व मुस्लिम खेती करके परिवार का भरण पोषण करते हैं। शुक्रवार रात दोनों भाई घर के बाहर चारपाई पर सो रहे थे। मुस्लिम की मानें तो इस बीच करीब साढ़े 12 बजे डेढ़ दर्जन से अधिक बदमाश तमंचा, लाठी व फरसा लेकर पहुंचे और दोनों भाइयों का मुंह दबाकर अपहरण कर लिया। मुस्लिम व पप्पू को गांव के बाहर ले जाकर बदमाशों ने जमकर पीटा। दोनों अपनी जान बचाकर भागे तो बदमाशों ने उन पर फायर झोंक दिया। गोली मुस्लिम के हाथ व पप्पू की पीठ में लगी। फायरिग की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने ललकारा तो हमलावर भाग निकले। लहूलुहान हालत में दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पप्पू की हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने उसे प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल रेफर कर दिया। ग्रामीणों के मुताबिक आक्रोशित पीड़ित पक्ष ने गांव के ही हसीन, संजय व अब्दुल गनी समेत कई लोगों पर हमला किए जाने का आरोप लगाया और उनके घरों में पहुंचकर तोड़फोड़ शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे सीओ मंझनपुर एसएन पाठक व इंस्पेक्टर मनीष कुमार पांडेय ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

-----------------

सप्ताह भर से सुलग रही थी चिगारी

मुस्लिम की पत्नी अफसाना बेगम ने पुलिस को बताया कि सप्ताह भर पहले एसओजी टीम ने प्रतिबंधित मांस की सूचना पर गांव में दबिश दी थी। इस दौरान पप्पू व मुस्लिम से सादे कपड़े में आए पुलिस कर्मियों ने विपक्षियों का घर पूछा था। दबिश की बात से अनजान दोनों ने विपक्षियों का घर बताया। इसके बाद एसओजी टीम ने प्रतिबंधित मांस के साथ कई आरोपितों की धर-पकड़ की थी। इसी बात से विपक्षी खुन्नस खा रहे थे कि मुस्लिम व पप्पू ने पुलिस से मिलकर मुखबिरी की है। इसे लेकर तीन दिन पहले भी विपक्षियों ने पप्पू व मुस्लिम के परिवार को हत्या की धमकी दी थी। इससे दहशतजदा अफसाना ने कोतवाली में शिकायत की और पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की थी। इसके बावजूद माहौल तनावपूर्ण बना रहा।

---------------

कोट-----------

मामले में पीड़ित पक्ष ने गांव के ही लोगों पर मारपीट का आरोप लगाया है। पुलिस ने 21 लोगों के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया है। फरार आरोपितों की तलाश की जा रही है। जांच कर निष्पक्ष कार्रवाई की जाएगी।

- समर बहादुर, अपर पुलिस अधीक्षक।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.