किसानों के समर्थन में भारत बंद आज, सड़कों पर जताएंगे विरोध, देंगे ज्ञापन, कई दलों का समर्थन

दिल्ली की सीमा में करीब 300 दिनों से केंद्र सरकार के कृषि बिल के खिलाफ धरना प्रदर्शन किसान कर रहे हैं। किसानों का मानना है कि सरकार का यह बिल औद्योगिक घरानों को बढ़ाने के लिए बनाए गए हैं। इससे किसानों का नहीं कारोबारियों का हित होगा। उनके विरोध को देखते हुए सोमवार को विभिन्न संगठनों ने भारत बंद का फैसला लिया है।

JagranMon, 27 Sep 2021 12:14 AM (IST)
किसानों के समर्थन में भारत बंद आज, सड़कों पर जताएंगे विरोध, देंगे ज्ञापन, कई दलों का समर्थन

कौशांबी। दिल्ली की सीमा में करीब 300 दिनों से केंद्र सरकार के कृषि बिल के खिलाफ धरना प्रदर्शन किसान कर रहे हैं। किसानों का मानना है कि सरकार का यह बिल औद्योगिक घरानों को बढ़ाने के लिए बनाए गए हैं। इससे किसानों का नहीं, कारोबारियों का हित होगा। उनके विरोध को देखते हुए सोमवार को विभिन्न संगठनों ने भारत बंद का फैसला लिया है। इस दिन किसान यूनियन समेत आम आदमी पार्टी व कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों के समर्थन में सड़क पर उतरेंगे। इनसे निपटने के लिए जिले के पुलिस अफसरों ने भी पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं।

केंद्र सरकार के कृषि बिलों को लेकर किसान बीते 300 दिनों से दिल्ली बार्डर पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इनकी मांगों को लेक सरकार कोई विचार नहीं कर रही है। किसानों को विभिन्न संगठनों का समर्थन मिल रहा है। संगठनों का दावा है कि जब किसान को बिल मंजूर नहीं है तो सरकार उसे क्यों थोप रही है। किसान इस बिल को वापस लेने की मांग भी कर रहे हैं। किसानों के लगातार चल रहे आंदोलन को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने बंद का आह्वान किया है। भारत बंद को लेकर कांग्रेस, आम आदमी पार्टी व अन्य किसान संगठनों ने विरोध की योजना बनाई है। सोमवार को संगठन किसानों के लिए सड़क पर उतरकर धरना प्रदर्शन करेंगे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने बताया कि आंदोलन को लेकर उनका समर्थन है। वहीं आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार ने बताया कि किसानों के समर्थन में कार्यकर्ता जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर मांग पूरी करने बात रखेंगे। इसी प्रकार अन्य कई संगठन किसानों के समर्थन हैं। बहरहाल संगठन के इस आंदोलन के चलते आम जनजीवन प्रभावित न हो इसके लिए पुलिस अफसरों की ओर से भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पुलिस अफसरों का कहना है कि मंझनपुर व चरवा क्षेत्र में किसानों के आंदोलन की बात पता चली है। इसके लिए जिले की पुलिस के अलावा पीएसी फोर्स को भी तैनात किया जा रहा है। इस बारे में एएसपी समर बहादुर का कहना है कि भारत बंद को लेकर आंदोलन करने वाले किसानों व दलों के कार्यकर्ताओं से कानून व्यवस्था प्रभावित न हो, इसके लिए इंतजाम किए गए हैं। सबसे पहले संगठन के लोगों से वार्ता कर शांति व्यवस्था बनाए जाने को कहा गया है। जिला मुख्यालय मंझनपुर में करारी, पश्चिम शरीरा व कौशांबी पुलिस और चरवा क्षेत्र में सराय अकिल व पिपरी पुलिस फोर्स को मुस्तैद रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा एक प्लाटून पीएसी फोर्स भी तैनात की जाएगी। हाइवे में निकलेगी पद यात्रा

कांग्रेस जिलाध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने बताया कि भारत बंद का कांग्रेस समर्थन करता है। सोमवार को किसान संगठन के साथ कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों के समर्थन में पद यात्रा निकालेंगे। हाइवे पर कई स्थानों पर यह कार्यक्रम होगा। इसके बाद किसानों के पक्ष में ज्ञापन भी दिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.