सोरों के रोडवेज बस स्टैंड पर अव्यवस्था का अंबार

सोरों संवाद सूत्र सूकर क्षेत्र सोरों श्रद्धालुओं के लिए तीर्थ नगरी है।

JagranSat, 27 Nov 2021 05:04 AM (IST)
सोरों के रोडवेज बस स्टैंड पर अव्यवस्था का अंबार

सोरों, संवाद सूत्र : सूकर क्षेत्र सोरों श्रद्धालुओं के लिए तीर्थ नगरी है। यहां प्रदेश के अलावा अन्य प्रांतों से भी श्रद्धालु आते हैं, लेकिन रोडवेज बस स्टैंड की बदहाली यात्रियों के लिए परेशानी का सबब बनती है। परिसर में न पीने के पानी की व्यवस्था है और न ही अंधकार होने पर रोशनी की। यहां तक कि निगम की बसें भी परिसर के अंदर नहीं जाती हैं।

तीर्थनगरी में राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं दिल्ली से भी तीर्थयात्री पहुंचते हैं। कस्बे का रोडवेज बस स्टैंड बदहाल है। यहां गंदगी का साम्राज्य रहता है। देखरेख करने वाला कोई नहीं है। शाम होते ही बसस्टैंड पर अंधकार छा जाता है और यहां अराजक तत्व अपना डेरा जमा लेते हैं। परिसर में लगे हैंडपंप और पानी की टंकियां खराब पड़ी हैं। सौर ऊर्जा लाइट भी खराब है। रोशनी की अन्य कोई व्यवस्था नहीं है। यहां आने वाले श्रद्धालु अपने आप को असुरक्षित महसूस करते हैं। बुकिग विडो बंद रहती है। किसी कर्मचारी की तैनाती भी नहीं है। महिलाओं के लिए बने शौचालय पर दरवाजा भी नहीं है। यहां की अव्यवस्था पर न तो विभाग का ध्यान है और ना ही उच्चाधिकारियों का। रोडवेज बसस्टैंड की व्यवस्था नहीं सुधरी तो 11 दिसंबर से शुरू होने वाले मार्गशीर्ष मेले में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को और अधिक दिक्कत होगी। 15 दिन तक चलने वाले इस मेले में अन्य प्रांतों के लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं।

- राधाकृष्ण चौधरी, तीर्थ पुरोहित परिवहन निगम को तीर्थ नगरी के रोडवेज बसस्टैंड की दशा में सुधार करना चाहिए। यहां जनसुविधाओं को बहाल किया जाना चाहिए। इससे दूर प्रदेशों से आने वाले तीर्थयात्रियों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

- सुमित पचौरी, तीर्थ पुरोहित बसस्टैंड पर न पीने के पानी की व्यवस्था है और ना ही रोशनी की। यहां शाम को रुकने में डर लगता है। सबसे अधिक यात्री राजस्थान से आता है। बसस्टैंड पर व्यवस्था दुरुस्त होनी चाहिए। असुविधा से परेशानी होती है।

- जितेंद्र सिंह, तीर्थ यात्री भरतपुर राजस्थान बस स्टैंड पर राजस्थान से आने वाली बसों का इंतजार करना पड़े तो यहां रुका नहीं जा सकता। क्योकि यहां अंधेरा रहता है। लोगों का आवागमन भी नहीं होता। सुरक्षा की ²ष्टि से यहां कोई इंतजाम नहीं हैं। ड्यूटी पर पुलिसकर्मी भी नहीं दिखते।

- तनिष्क, तीर्थ यात्री अलवर राजस्थान यहां कर्मचारियों की तैनाती के लिए मुख्यालय को पत्र लिखा है। अनुमति मिलते ही कर्मचारी की तैनाती की जाएगी। रोशनी, पानी व अन्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराया जाएगा।

- संजीव यादव, एआरएम

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.