खुले आसमान के नीचे न रहें, रैन बसेरे में करें बसेरा

बेसहाराओं की सर्द रात खुले आसमान के नीचे न गुजरे के लिए इसके लिए निकायों ने रैन बसेरे बनाकर तैयार किए हैं लेकिन अभी जरूरतमंद रैन बसेरों में नहीं पहुंच रहे हैं। सभी मायने में तो रैन बसेरे कहां बने हैं लोगों को इसकी जानकारी नहीं है। शहर में पालिका ने स्टेशन रोड़ पर अस्थाई रैन बसेरा बनाया है।

JagranPublish:Wed, 01 Dec 2021 04:47 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 04:47 AM (IST)
खुले आसमान के नीचे न रहें, रैन बसेरे में करें बसेरा
खुले आसमान के नीचे न रहें, रैन बसेरे में करें बसेरा

संवाद सहयोगी, कासगंज : बेसहाराओं की सर्द रात खुले आसमान के नीचे न गुजरे के लिए इसके लिए निकायों ने रैन बसेरे बनाकर तैयार किए हैं, लेकिन अभी जरूरतमंद रैन बसेरों में नहीं पहुंच रहे हैं। सभी मायने में तो रैन बसेरे कहां बने हैं, लोगों को इसकी जानकारी नहीं है। शहर में पालिका ने स्टेशन रोड़ पर अस्थाई रैन बसेरा बनाया है।

प्रतिवर्ष सर्दियों के मौसम में निकायों द्वारा अपने स्रोतों से रैन बसेरे बनाए जाते हैं। इस वर्ष भी निकायों ने रैन बसेरे बनाए हैं। जिलेभर में रैन बसेरों में बेहतर व्यवस्थाएं हैं। इनमें चारपाई, तख्त और फोल्डिग पलंग के साथ ओढ़ने के लिए रजाई और कंबल के अलावा बिछाने के लिए दरी और गर्म चादरें हैं। रैन बसेरे की जानकारी लोगों को नहीं हैं। जागरूकता के लिए कहीं भी सार्वजनिक स्थलों पर बोर्ड आदि नहीं लगाए गए हैं, जिससे लोगों को इसकी जानकारी नहीं हो रही है। इसके अभाव में लोग सर्द रात खुले आसमान के नीचे बिता रहे हैं। शहर में वन स्टाप सेंटर भी संचालित है। जरूरतमंद लोगों के न पहुंचने से रात में भी रैन बसेरे सूने पड़े हैं। सार्वजनिक स्थलों पर लगाए जाए बोर्ड

रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड सहित अन्य सार्वजनिक स्थलों पर इस तरह के बोर्ड लगाए जाएं। जिन पर निकायों द्वारा बनाए गए रैन बसेरों का स्थल के अलावा स्टेशन और बस स्टैंड से दूरी तथा मानचित्र भी होना चाहिए, जिससे लोग वहां आसानी से पहुंच सके। रैन बसेरों की सार्थकता सिद्ध हो सके। जिले में सभी नगर पालिका एवं नगर निकायों द्वारा रैन बसेरे बना दिए गए हैं। सभी रैन बसेरों में पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध हैं। शहर में नगर पालिका ने गाल गोदाम स्टेशन रोड़ पर अस्थाई रैन बसेरा बनाया है। इसके अलावा, पटियाली, अमांपुर, सहावर में अस्थाई रैन बसेरे बनाए गए हैं।

एके श्रीवास्तव, एडीएम