गांव देवपुर में दहशत भरी खामोशी, फोर्स तैनात रही

कासगंज संवाद सहयोगी अमांपुर के गांव देवपुर में प्रधान के भाई की हत्या के बाद दहशत भरी खामोशी है।

JagranMon, 06 Dec 2021 05:43 AM (IST)
गांव देवपुर में दहशत भरी खामोशी, फोर्स तैनात रही

कासगंज, संवाद सहयोगी : अमांपुर के गांव देवपुर में प्रधान के भाई की हत्या के बाद दहशत भरी खामोशी है। ग्रामीण अनहोनी को लेकर आशंकित हैं। गलियों में सन्नाटा पसरा रहा। सुरक्षा की ²ष्टि से गांव में कई स्थानों पर पुलिस और पीएसी बल तैनात किया गया है।

शनिवार को गांव देवपुर में प्रधान के भाई की हत्या के बाद माहौल बिगड़ गया था। ग्रामीण और स्वजन ने अमांपुर थाने पर पथराव किया। साथ ही लगभग तीन घंटे तक जाम लगाया। इससे कस्बा का भी माहौल खराब हो गया। वहीं, गांव में लोग दहशत में आ गए। घटना को लेकर कोई चर्चा तक नहीं कर रहा था। दोनों पक्ष एक ही समुदाय के होने के कारण घटना को लेकर लोग किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से बच रहे थे। अधिकांश घरों के तो दरवाजे भी बंद थे। गलियों में सन्नाटा पसरा रहा। बच्चे भी कहीं खेलते और घूमते नजर नहीं आए। खेतों पर भी किसान काम करते नहीं दिखे। कुछ महिलाएं जरूर पशुओं को चारा खिलाते और बाड़ा साफ करते दिखाई दी। गांव मे सुरक्षा की ²ष्टि से बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी बल तैनात किया गया है। दोनों पक्षों के घरों पर कड़ी सुरक्षा है। वहीं, गांव के मुख्य मार्ग से लेकर मध्य कई स्थानों पर पुलिस लगाई गई है। आरोपित की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मुखर हुए लोग

गांव देवपुर में प्रधान रामकुमार के घर भाई के शव के अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही थी। तभी स्वजन व कुछ रिश्तेदार आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। साथ ही गिरफ्तारी न होने तक शव का अंतिम संस्कार न करने और जाम लगाने की बात कहने लगे। तभी सीओ शैलेंद्र परिहार ने स्वजन से बात की। उन्हें समझाया और फिर एसपी बोत्रे रोहन प्रमोद से फोन से बात कराई। एसपी ने जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया तो फोन पर एसपी से मिले आश्वासन के बाद लोग मान गए। पुलिस सुरक्षा के बीच हुआ शव का अंतिम संस्कार

संवाद सहयोगी, कासगंज : गांव देवपुर में देर रात जब यशवीर का शव पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। रविवार की सुबह गांव में ही शव का अंतिम संस्कार किया गया। देवपुर के अलावा आसपास के ग्रामों से लोग शव यात्रा में शामिल होने के लिए आए। पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार कराया।

शनिवार को गांव देवपुर में प्रधानी की रंजिश के चलते ग्राम प्रधान रामकुमार के भाई यशवीर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शनिवार देर रात शव पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचा तो पहले से ही ग्रामीण और रिश्तेदार रामकुमार के घर पर मौजूद थे। शव को देखते ही परिवार की महिलाएं विलाप करने लगीं। पत्नी अनीता का रोरोकर बुरा हाल था। रविवार की सुबह गांव में ही शव का अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के समय गांव देवपुर के अलावा बड़ी संख्या में आसपास के ग्रामों के लोग भी मौजूद थे। अंतिम संस्कार के दौरान सीओ सहावर शैलेंद्र सिंह परिहार, सीओ पटियाली आरके तिवारी पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.