पहले दिन 912 युवाओं ने लगवाया कोरोना का टीका

कासगंज संवाद सहयोगी मंगलवार को जिले में 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेशन का पहला दिन था।

JagranPublish:Wed, 02 Jun 2021 05:36 AM (IST) Updated:Wed, 02 Jun 2021 05:36 AM (IST)
पहले दिन 912 युवाओं ने लगवाया कोरोना का टीका
पहले दिन 912 युवाओं ने लगवाया कोरोना का टीका

कासगंज, संवाद सहयोगी: मंगलवार को जिले में 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेशन का पहला दिन था। युवाओं में टीकाकरण को लेकर उत्साह दिखाई दिया। सुबह से ही केंद्रों पर पहुंचकर वैक्सीनेशन कराया। जिले में 24 केंद्रों पर कुल 1326 लोगों के वैक्सीनेशन किया गया।

18 प्लस के टीकाकरण के लिए जिले में 15 केंद्र बनाए गए थे। इसके अलावा नौ और केंद्र बने थे। इनमें दोनों आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण की व्यवस्था थी। जिन युवाओं ने आनलाइन पंजीकरण करा लिया था, वे टीकाकरण के इंतजार में थे। सुबह नौ बजे से ही केंद्रों पर पहुंच गए। एलडीएम आफिस पर बैंक कर्मियों एवं उनके स्वजनों के टीके लगाए गए। जिले में 18 प्लस के 1300 लोगों के टीके लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसके सापेक्ष 912 युवा टीके लगवाने केंद्रों पर पहुंचे। जबकि 45 प्लस के 390 लोगों ने टीके लगवाए। 24 लोगों को वैक्सीनेशन की दूसरी डोज दी गई। जिले के कुल 1326 लोगों के टीके लगे। बिना पंजीकरण के नहीं लगेंगे टीके

अब तक 45 प्लस के लोगों का स्पार्ट पंजीकरण कर टीकाकरण किया जा रहा था, लेकिन पहली बार टीका लगवाने वालों को आनलाइन पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण कराने वाले के ही टीके लगाए जाएंगे। जबकि दूसरी डोज लगवाने के लिए कोई पंजीकरण नहीं कराना होगा। पहली डोज के समय स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए गए कार्ड को अपने साथ ले जाकर निर्धारित तिथि पर दूसरी डोज लगवा सकते है। सीएमओ ने देखी केंद्र की व्यवस्थाएं

सीएमओ डा. अनिल कुमार ने प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अंजुस सिंह एवं कासगंज के स्वास्थ्य अधीक्षक डा. आकाश के साथ शहर के बिड़ला अस्पताल में बनाएं गए वैक्सीनेशन केंद्र की व्यवस्थाएं देखी। सीएमओ ने कहा है कि जिले में 18 प्लस का टीकाकरण शुरू हो गया। लोग आनलाइन पंजीकरण कराकर टीका कराएं। जिले में नहीं मिला कोई पाजिटिव

मंगलवार को कोरोना जांच के लिए 2181 सैंपल लिए गए। जिनमें से 1001 सैंपल कोरोना जांच के लिए लखनऊ और आगरा की लैब भेज गए है। 1180 एंटीजन टेस्ट में कोई भी कोरोना पाजिटिव नहीं पाया गया है। पाजिटिव न मिलने से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली है।