लौआ गांव में अनशन पर बैठे ग्रामीण

संवाद सहयोगी झींझक संदलपुर ब्लाक के लौआ गांव के लोगों ने कूटरचित अनुसूचित जाति धनगर क

JagranSat, 31 Jul 2021 07:33 PM (IST)
लौआ गांव में अनशन पर बैठे ग्रामीण

संवाद सहयोगी, झींझक : संदलपुर ब्लाक के लौआ गांव के लोगों ने कूटरचित अनुसूचित जाति धनगर का जाति प्रमाण पत्र तैयार कर अनुसूचित आरक्षित सीट पर प्रधान निर्वाचित होने का आरोप लगाकर डीएम से कार्रवाई की मांग की है। पहले शिकायत पर कार्रवाई न होने पर अनशन पर लोग बैठे हैं।

संदलपुर ब्लाक के लौआ ग्राम पंचायत निवासी सागर सिंह ने डीएम को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाते हुए कहा था कि ग्राम पंचायत की सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित थी जिसमें गांव की मोहिनी ने कूटरचित तरीके से अनुसूचित जाति धनगर का प्रमाण पत्र लगाकर चुनाव लड़ीं और जीत गईं। इससे अनुसूचित जाति के लोगो के अधिकारों का हनन हुआ है। शिकायत के बाद कोई कार्रवाई न हुई और दोबारा 23 जुलाई को पत्र भेजकर कार्रवाई न होने पर अनशन की चेतावनी दी गई थी। शनिवार को गांव के आंबेडकर पार्क में ग्रामीण सागर सिंह, विनय सिंह, रामचंद्र, शिव कुमार व भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष सुनील यादव अनशन पर बैठ गए। अनशन पर बैठे ग्रामीणों का कहना है कि मांग पूरी न होने पर अनशन जारी रहेगा। एसडीएम सिकंदरा आरसी यादव ने बताया कि लौआ गांव की प्रधान के जाति प्रमाण पत्र का मामला न्यायालय में है ऐसे में अनशन करना गलत है। अगर शीघ्र ही ग्रामीणों ने अनशन समाप्त न किया तो कार्रवाई भी हो सकती है। तहसीलदार सिकंदरा लखन लाल राजपूत ने अनशन पर बैठे ग्रामीणों को कार्रवाई का आश्वासन देकर अनशन समाप्त करा दिया। तहसीलदार ने बताया कि ग्राम प्रधान का जाति प्रमाण पत्र उसके मायके से बना है। रद कराने के लिए वहां पर शिकायतकर्ता वाद दाखिल करें। इसे बाद प्रमाण पत्र रद होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.