आंधी से उखड़े कई पोल, सैकड़ों गांव की बिजली गुल

जागरण संवाददाता कानपुर देहात जिले में बुधवार देररात व गुरुवार दोपहर आई आंधी से बिजल

JagranThu, 13 May 2021 07:37 PM (IST)
आंधी से उखड़े कई पोल, सैकड़ों गांव की बिजली गुल

जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : जिले में बुधवार देररात व गुरुवार दोपहर आई आंधी से बिजली व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई। झींझक, रूरा, शिवली, रनियां, रसूलाबाद व सरवनखेड़ा समेत कई क्षेत्रों में 20 से अधिक पोल उखड़ गए साथ ही सबस्टेशन में भी फाल्ट आ गया। इससे सैकड़ों गांव में बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। अधिकारी व कर्मचारी घंटों मशक्कत करते रहे, लेकिन कई गांवों में गुरुवार रात तक भी बिजली नहीं आ सकी। पेयजल व मोबाइल चार्जिंग के साथ अन्य समस्या को लेकर लोग परेशान हुए।

आंधी बारिश में नवीन उपकेंद्र लगरथा रोड झींझक से जुड़े अकारु फीडर की लाइन में फाल्ट आने के कारण बुधवार शाम 6 बजे इस फीडर से जुड़े कमालपुर, उइछा, गैरी, सांधूपुर, ठेनामऊ, सहित 34 गांवों की बिजली सप्लाई ठप हो गई। गुरुवार दोपहर 12 बजे लाइनमैनों ने फाल्ट ठीक किया इसके बाद सप्लाई बहाल हो सकी। इस बीच लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। एसडीओ मनीष वर्मा ने बताया कि अकारु फीडर की लाइन में फाल्ट आने के कारण सप्लाई बाधित हो गयी थी फाल्ट ठीक करा कर सप्लाई बहाल की गई है। वहीं रूरा के सिथमरा, मुडेराविक्रम, कल्यानीपुरवा, रामपुर, गदनपुर में पोल टूटकर जमीन में गिर गए जबकि महाराजपुर गांव में 16 केवीए का ट्रांसफार्मर लगा पोल मय ट्रांसफार्मर के नीचे गिरने वह क्षतिग्रस्त हो गया है। बुधवार रात करीब नौ बजे कस्बा का फीडर किसी तरह से चालू कराया गया। वहीं सरगांव, रेरी व इन्दुरुख सहित अन्य गांवों की आपूर्ति चालू कराने के लिए देर रात तक कर्मी मशक्कत करते रहे। गुरुवार सुबह एसडीओ आइसी तिवारी ने झींझक, डेरापुर, शिवली व अकबरपुर फीडर से जुड़े सैकड़ों गांवों की आपूर्ति चालू करने के लिए अलग-अलग टीम भेजी। बनीपारा सब स्टेशन में खराब आउटगोइंग ट्रॉली की मरम्मत का कार्य जेई इंद्रजीत की देखरेख में शुरू शाम तक जारी रहा। ट्रॉली खराब होने से बनीपारा सहित आसपास के गांव में बिजली सप्लाई नहीं हो सकी। जेई ने बताया कि आंधी से करीब 10 पोल टूटने के साथ ही जगह-जगह पेड़ों की डाल गिरने से तार टूटने से काफी नुकसान हुआ है। दोपहर तक आंशिक गांवों में सप्लाई चालू करा दी गई। मरम्मत टीम क्षेत्र में काम कर रही है देर शाम तक अन्य गांवों में भी आपूर्ति चालू होने की उम्मीद है।

इधर, मेनलाइन में पेड़ की डाली गिरने से सरवनखेड़ा व गजनेर सबस्टेशन क्षेत्र के गांव में करीब 20 घंटे तक आपूर्ति बाधित रही। बुधवार शाम को गई बिजली गुरुवार दोपहर एक बजे तक कुछ फीडर ही चालू हो पाये। बाकी फीडर देर शाम तक चालू होने की संभावना है। पूरी रात करीब एक सैकड़ा गांवों में अंधेरा रहा वहीं गुरुवार सुबह लोगों को सबसे ज्यादा दिक्कत घरों मे लगे पंप न चल पाने के कारण हुईं। जेई अंबिका पांडेय ने बताया कि देर शाम तक सभी फीडर चालू हो जाएंगे। शिवली के जवाहरपुरम विद्युत परियोजना से जुड़े सबस्टेशन शिवली व सबस्टेशन शोभन आने वाली 33 केवी लाइन पर टिकरा से मकसूदाबाद के बीच कई पेड़ों के गिरने से विद्युत तार व पोलों के टूट जाने के कारण क्षेत्र के एक सैकड़ा गांव की आपूर्ति पिछले 22 घंटों से ठप है। एसडीओ प्रकाश सिंह ने बताया कि तारों को जुड़वाएं जाने व खंभों को सही कराए जाने का काम कराया जा रहा है। काम पूरा होते ही सप्लाई बहाल कर दी जाएगी।

उधर, रसूलाबाद के सबस्टेशन में वीसीवी मशीन में ब्लास्ट हो जाने से और दोपहर आई आंधी के चलते रसूलाबाद बिल्हौर लाइन में फाल्ट हो जाने से बिजली गुल रही। सुबह से आपूर्ति ठप होने के कारण कस्बे के सुभाष नगर, केशव नगर, विकास नगर, शास्त्री नगर, गौतम बुद्ध नगर, निराला नगर, रहीम नगर, तुलसी नगर, कबीर नगर, गांधी नगर आदि मोहल्लों में सुबह से ही लोग पानी के लिए परेशान रहे और हैंडपंपों का सहारा लिया। एसडीओ गौरव दुबे से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नगर को विद्युत आपूर्ति करने वाले सब स्टेशन की वीसीवी मशीन में सुबह ब्लास्ट हो जाने के कारण आपूर्ति ठप हो गई थी जब तक उसे ठीक किया जाता इसी दौरान गुरुवार दोपहर आई आंधी से रसूलाबाद-बिल्हौर लाइन में कहीं फाल्ट हो गया और आपूर्ति ठप हो गई। ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.