top menutop menutop menu

बसों का संचालन न होने से मुसीबत में सफर

जागरण संवाददाता, कानपुर देहात: अकबरपुर ही नहीं रूरा, डेरापुर, रसूलाबाद, रनियां आदि कस्बा के लोग सीएनजी बस से ही अभी तक आवागमन करते रहे हैं। इन सिटी बस के चलने से सबसे अधिक आराम दैनिक यात्रियों को होती थी। फैक्ट्री, नौकरीपेशा, धंधा करने वालों के लिए भी सबसे सुलभ साधन होता था। बसों का संचालन रोक देने से आम जनता के सामने सुरक्षित सफर करना बड़ी मुसीबत बन गया है।

रनियां, कानपुर नगर जाने के लिए लोगों के सामने इस समय दो ही रास्ते हैं या तो यह लोग दो निजी साधन करके जाएं या फिर डग्गामार का सहारा लेकर अपनी जिदगी दांव पर लगाते हुए सफर करें। डग्गामार वाहन में संक्रमण का खतरा

अकबरपुर से रनियां, रूरा चलने वाले आटो बेतरतीब सवारियां बैठाते हैं। न तो कोई मास्क लगाता है और न ही चालक ही किसी को हिदायत देते हैं। ऐसे में इससे सफर करने वालों के सामने अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ होता है। अब किसी पता कि सारा दिन चलने वाले इन टेंपो में कोई संक्रमित बैठा हो। एक पॅाजिटिव न जाने कितनों को बीमारी की सौगात बांट दे। जनप्रतिनिधि दें ध्यान

. सीएनजी बसों के न चलने से सभी वर्गों को दिक्कत झेलनी पड़ रही है, अधिकारियों के साथ जनता के सेवक कहलाने वाले जनप्रतिनिधियों को आगे आकर इस समस्या का हल निकालना चाहिए।

अनमोल शुक्ला, स्थानीय निवासी

. डग्गामार वाहन बसों के न चलने से मनमाना किराया वसूल रहे हैं, सवारियां भी नियमों के विपरीत बैठाते हैं, इससे वाहन में बैठी सवारियों को संक्रमण का खतरा हर समय बना रहता है।

नितिन गुप्ता, स्थानीय निवासी

. हाईवे पर दो पहिया वाहन से कानपुर का सफर करना संकट भरा होता है, उसमें भी यदि रोज ही सफर करना पड़े तो अधिक दिक्कत है, बसों का संचालन हर हाल में होना चाहिए।

शिवम कौशल, स्थानीय निवासी

. आम जनता के साथ व्यापार पर भी इसका असर होता है, छोटे दुकानदारों को इन्हीं बसों का सहारा होता है क्यों कि इनमें सफर बहुत ही सुरक्षित और भरोसेमंद होता है।

लल्लू, स्थानीय निवासी

- मंडलायुक्त को एक बार फिर से पत्र भेज कर सिटी बसों को नगर से बाहर भेजे जाने की अनुमति मांगी है, हमारी ओर से प्रयास हो रहे हैं कि सीएनजी बसों का संचालन जल्द हो सके।

राकेश अग्रवाल, एआरएम सिटी बस

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.