बारिश से बाढ़ जैसे हालात, सोते रहे विभाग

जागरण संवाददाता कानपुर देहात बारिश होने से पहले नगर पंचायत से लेकर विकास भवन व ब्लाक

JagranFri, 30 Jul 2021 06:04 PM (IST)
बारिश से बाढ़ जैसे हालात, सोते रहे विभाग

जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : बारिश होने से पहले नगर पंचायत से लेकर विकास भवन व ब्लाक में बैठे अधिकारी सफाई अभियान के नाम लापरवाही बरतते रहे और जनता को बाढ़ जैसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। अकबरपुर, रसूलाबाद, झींझक, शिवली समेत सभी क्षेत्र में कस्बे से लेकर गांव तक सड़क से लेकर घर तक पानी भर गया है। लोग अपनी गृहस्थी बचाने में जुटे हैं तो आने जाने की समस्या आ गई है। सभी व्यवस्था को कोस रहे हैं।

अकबरपुर के सदर बाजार, जनकपुरी मैदान रोड, बाढ़ापुर समेत तहसील परिसर सभी जगह जलभराव से लोग जूझ रहे हैं। बारिश भले ज्यादा हो रही हो लेकिन नाला सफाई सही होती तो इतनी समस्या न होती। रसूलाबाद विकास खंड के गांवों में चारों ओर बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। अब धीरे धीरे कच्चे मकान छोड़कर लोग पंचायत घरों एवं परिषदीय विद्यालयों में शरण ले रहे हैं। जिनके पास आवास नहीं है वह अपनी झुग्गी झोपड़ी पानी में डूबी छोड़कर सड़क के किनारे चारपाई डालकर पन्नी ओढ़कर गुजारा कर रहे। दिव्यांग युवक रोहित पाल अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ गांव के बाहर करीब एक साल से कच्चे मकान एवं फूस की झोपड़ी में रह रहे हैं। आवास का लाभ मिला नहीं और अब बारिश से पालीथिन ओढ़कर किसी तरह से रह रहे। बनीपारा, कहिजरी, तिस्ती सभी जगह भीषण जलभराव है और घुटनों के ऊपर तक पानी है। उधर संदलपुर ब्लाक का जिगना गांव सेंगुर नदी किनारे बसा है गांव आने जाने के लिए मात्र एक मार्ग है। झींझक सिकंदरा रोड से जैतापुर होते हुए जिगना रोड से लोग गुजरते हैं और यहां पर धरिया नाले का पुल पानी में डूब गया है। नदी का जलस्तर बढ़ने से ऐसा हुआ। पुल से करीब तीन फीट ऊपर पानी बह रहा। इससे गांव से आवागमन का रास्ता बंद हो गया है। ग्राम प्रधान बलराम, अंकित राज, नितबरन सिंह, अन्नू, अरुण अरूण आदि ने बताया कि गांव जाने के लिए एक रास्ता है वह भी धरिया नाले के पुल से हो कर जाता है बारिश में धरिया नाले का पुल डूब गया है और रास्ता बंद हो चुका। अब हम लोग गांव से कही भी नहीं जा सकते न ही जरूरी सामान आ पा रहा है। हम लोगों ने गांव में रहने वाले सांसद इटावा रामशंकर कठेरिया के प्रतिनिधि अरविद कठेरिया के माध्यम से शिकायत अधिकारियों तक भेजी है। एसडीएम सिकंदरा आरसी यादव ने बताया कि समाधान किया जा रहा और आवागमन की व्यवस्था कराएंगे। उधर शिवली में जल निकासी के लिए आठ पक्के नालों का निर्माण कराया गया था। इसके चोक होने के कारण साकेत नगर, सुभाष नगर, शंकर नगर, गांधी नगर, जवाहर नगर व रामनगर मोहल्लों में जलभराव हो जाने के कारण लोगों को आने-जाने में भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। कांशीराम कालोनी से लेकर कई विद्यालयों के अंदर व बाहर तक भीषण जलभराव हो गया है। चेयरमैन अवधेश शुक्ला ने बताया कि सभी कर्मचारियों को नालों की सफाई करने के निर्देश दिए गए हैं। लापरवाही करने वाले कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.