तीसरे दिन भी होती रही जलनिकासी, बारिश ने फिर बढ़ाई धड़कन

संवाद सहयोगी घाटमपुर घाटमपुर में बाढ़ जैसी स्थिति से बेपटरी हुई व्यवस्था को फिर से पट

JagranSun, 01 Aug 2021 08:01 PM (IST)
तीसरे दिन भी होती रही जलनिकासी, बारिश ने फिर बढ़ाई धड़कन

संवाद सहयोगी, घाटमपुर : घाटमपुर में बाढ़ जैसी स्थिति से बेपटरी हुई व्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है। रविवार को भी कई जगहों पर रोड काटकर भराव का पानी निकालने की कोशिश की गई। विधायक, एसडीएम और पालिका ईओ ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। हालांकि, रविवार को दिनभर रुक-रुक कर होती रही बारिश ने एक बार फिर कस्बावासियों और प्रशासन की धड़कने बढ़ा दी है। अगर यह बारिश लगातार होती रही तो फिर से संकट उत्पन्न हो जाएगा।

घाटमपुर नगर में इस्लामिया स्कूल के पास, पचखुरा, टीचर्स कालोनी और अशोक नगर दक्षिणी आदि मोहल्ले में अभी भी जलभराव की स्थिति है। इस्लामिया स्कूल के पास कई घर पूरी तरह चारो ओर से पानी से घिरे हुए हैं। वहां जाने का कोई रास्ता भी नहीं है। कई घर ऐसे हैं जहां बकरी और अन्य जानवर अंदर मौजूद हैं, लेकिन जलभराव के चलते उन्हें निकालने में दिक्कत हो रही है। रविवार को भी विधायक उपेंद्र पासवान और नगर पालिका ईओ ने आसरा आवास में टिके परिवारों को लंच पैकेट बांटे। एसडीएम अरुण कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि कई जगहों पर सड़क काटकर जल निकासी की जा रही है। इसके साथ ही नुकसान का भी आकलन किया जा रहा है। इस्लामिया के पास से नाला खोदकर पुलिया तक पानी निकालने की व्यवस्था की गई है। राहा, जहांगीराबाद आदि गावों में हुए जलभराव को भी कम किया जा रहा है।

--------

एंटी लार्वा का किया जा रहा छिड़काव

बारिश की वजह से कस्बे में जगह-जगह पर जलभराव हो गया है। जलभराव के चलते डेंगू, चिकनगुनिया और अन्य संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे में प्रशासन और पालिका स्तर से एंटीलार्वा का छिड़काव किया जा रहा है। पालिका ईओ उमेश मिश्रा ने बताया कि जलभराव की वजह से संक्रामक बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। जहां-जहां जलभराव है वहां एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है। जल्द ही सैनिटाइजेशन भी किया जाएगा।

-------

25 वर्ष से जर्जर खड़ा स्कूल का भवन ढहा, कोई हताहत नही

पतारा क्षेत्र के बलाहपारा कला गांव किनारे मां गढ़ी देवी मंदिर के पास स्थित सरकारी कन्या पाठशाला का जर्जर भवन ढह गया। गनीमत रही कि कोई घायल नहीं हुआ। पूर्व ग्राम प्रधान राजेंद्र नारायण सिंह ने बताया की सन 1994 में गांव के किनारे नए विद्यालय के भवन का निर्माण हुआ था। जिसमें विद्यालय चल रहा है। पुरानी बिल्डिग करीब 25 साल से जर्जर खड़ी थी। इसमें चार कमरे व एक बरामदा बना था। बारिश के चलते चारो कमरे ढह गए। एबीएसए गिरीश कटियार ने बताया की कल टीम भेजकर जांच करेंगे।

--------

भीतरगांव-घाटमपुर रोड के खदरी मोड़ पर रविवार को एक पेड़ टूटटकर सड़क पर गिर गया। इसके चलते पूरा रोड जाम हो गया। खबर लिखने तक पेड़ नहीं हटाया गया था। इसी रोड पर हाईटेंशन लाइन के दो बिजली के खंभे भी टूट गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.