घरों में रहकर भक्तों ने दी शोभन सरकार को श्रद्धांजलि

घरों में रहकर भक्तों ने दी शोभन सरकार को श्रद्धांजलि

संवाद सूत्र शिवली कोरोना संक्रमण के चलते चलते शोभन सरकार की प्रथम पुण्यतिथि पर गुरुवार क

JagranThu, 13 May 2021 06:50 PM (IST)

संवाद सूत्र, शिवली : कोरोना संक्रमण के चलते चलते शोभन सरकार की प्रथम पुण्यतिथि पर गुरुवार को शोभन आश्रम में सन्नाटा पसरा रहा। अधिकारियों के साथ हुई बातचीत के चलते आश्रम में किसी भी तरह का आयोजन नहीं किया गया। भक्तों ने घरों में ही रहकर उन्हें यादकर श्रद्धांजलि दी। वहीं इस मौके पर आश्रम में स्थित श्रीचरण आरोग्य धाम में मरीजों को निश्शुल्क दवा वितरित की गई।

पिछले वर्ष कोरोना वायरस के चलते सरकार ने लॉकडाउन घोषित किया था। उसी बीच 13 मई की भोर पहर शोभन आश्रम को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित करने वाले आश्रम के महंत 1008 परमहंस स्वामी विरक्तानंद जी महाराज बीमारी के चलते ब्रह्मलीन हो गए थे। ब्रह्मलीन होने की जानकारी मिलते ही उनके भक्तों का जनसैलाब आश्रम में उमड़ पड़ा था। हजारों की संख्या में आश्रम पहुंचे भक्त सरकार की एक झलक देखने के लिए व्याकुल थे। शोभन सरकार की इच्छा के अनुसार दोपहर करीब 11 बजे उनके पार्थिव शरीर को चौबेपुर थाना क्षेत्र के सुनौढ़ा गांव के पास गंगा नदी किनारे शोभन सरकार द्वारा बनवाए गए आश्रम के पास गंगा नदी में जल समाधि दी गई थी। गुरुवार को उनकी पहली पुण्यतिथि थी, इसे लेकर प्रशासनिक अधिकारी पहले से ही सजग थे। एसडीएम मैथा राम शिरोमणि, सीओ रसूलाबाद परशुराम सिंह व कोतवाल प्रमोद कुमार शुक्ला ने आश्रम की देखरेख कर रहे आश्रम के सर्वराकार हरिशरणम पांडेय से संपर्क कर कोरोना वायरस के चलते शासन से जारी की गई। कोविड गाइडलाइन का हवाला देते हुए किसी भी तरह का आयोजन न करने की बात कही गई थी। इस पर सर्वराकार हरिशरणम पांडेय ने आसपास गांवों के आने वाले भक्तों को मना कर दिया था। इसके चलते आश्रम में सन्नाटा पसरा रहा। यहां के लोगों ने बिना किसी कार्यक्रम के शोभन सरकार को श्रद्धांजलि दी तो भक्तों ने भी घर से ही उन्हें याद किया। इस मौके पर श्रीचरण आरोग्य धाम में आए 200 मरीजों को निश्शुल्क दवा दी गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.