बेहमई कांड : मैं बेहमई हूं..मुझे चाहिए इंसाफ

बेहमई कांड : मैं बेहमई हूं..मुझे चाहिए इंसाफ

चारुतोष जायसवाल कानपुर देहात मैं कानपुर देहात का बेहमई गांव हूं। 14 फरवरी 1981 का दि

JagranSat, 13 Feb 2021 07:15 PM (IST)

चारुतोष जायसवाल, कानपुर देहात

मैं कानपुर देहात का बेहमई गांव हूं। 14 फरवरी 1981 का दिन मुझे वो जख्म दे गया, जो अब तक भर नहीं सका है। इसी दिन फूलन गैंग ने मेरे 20 लाल गोलियों से छलनी कर दिए थे। संघर्ष करते 40 साल बीत गए, लेकिन अभी तक मुझे इंसाफ की दरकार है।

माघ माह में शनिवार के दिन 14 फरवरी को ही दोपहर के वक्त जब बच्चे खेलकूद में व्यस्त थे, तभी खाकी वर्दी पहने डकैतों का हुजूम फूलन के साथ बेहमई में घुसा था। डकैत श्रीराम व लालाराम के नहीं मिलने पर 26 लोगों को एक लाइन में खड़ा करके गोली मारी थी, जिनमें 20 की मौत हो गई थी। इस नरसंहार में महज चार दिन पहले ब्याह कर आई 16 साल की मुन्नी के पति लाल सिंह भी मारे गए थे। संतोषी, विद्यावती समेत कई विधवाएं ये दु:ख भूल नहीं पाई हैं। मामले में तारीख पर तारीख मिलते हुए 31 साल बाद पहली गवाही वर्ष 2012 में हुई थी। वादी राजाराम भी दिसंबर 2020 में दुनिया से चले गए। उनके भाई शिशुपाल, बेटे बादाम सिंह व रामकेश समेत दूसरे ग्रामीण कहते हैं कि संघर्ष जारी रखेंगे लेकिन पता नहीं कब इंसाफ मिलेगा। बचे डकैतों को उनके किए की सजा कब मिलेगी।

---

समय के साथ बदल गया गांव

सिकंदरा कस्बे से करीब 22 किलो मीटर दूर बेहमई तक वर्ष 2018-19 में पक्की और चौड़ी सड़क बन चुकी है। 10 साल पहले तक यहां कच्चा रास्ता था। घटना के वक्त वाहन तक नहीं चलते थे। पैदल ही आवाजाही होती थी। दो साल पहले विद्युतीकरण भी हो चुका है। जब नरसंहार हुआ था, तब गांव के अधिकांश घर कच्चे व झोपड़ी वाले थे। अब 950 की आबादी वाले गांव में करीब 300 मकान हैं। गांव में 23 साल पहले प्राथमिक स्कूल खुला था। वहीं, गांव में करीब 15 लोग विभिन्न सरकारी नौकरियों में हैं। इसमें तीन लोग शिक्षक हैं, जबकि बाकी पुलिस व सेना में हैं।

--

तीन डकैत अभी जिंदा, एक जेल में

डकैतों में पोसा वर्तमान में जेल में बंद है, जबकि भीखा व श्यामबाबू जमानत पर हैं। जिला शासकीय अधिवक्ता राजू पोरवाल कहते हैं कि मूल केस डायरी नहीं मिलने से फैसला लंबित है। एसपी कानपुर देहात को कोर्ट ने निर्देश दिया था कि इसे खोजकर पेश करें, लेकिन अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.