फर्रुखाबाद में घर के बाहर सो रहे भट्ठा मालिक को गोलियों से भूना, पहली पत्नी और उसके स्वजन पर शक

गांव बरई निवासी 45 वर्षीय जगजीवन राम राजपूत का चिलसरा रोड पर गांव तेजापुर निवासी सोनपाल के साझे में ईंट भट्ठा है। वहीं पर वह कमरे में पत्नी और बच्चों के साथ रहते थे। देर रात जगजीवन घर के बाहर नलकूप के चबूतरे पर सो रहे थे।

Shaswat GuptaSun, 13 Jun 2021 08:49 PM (IST)
फर्रुखाबाद में मारे गए भट्ठा मालिक की खबर से संबंधित प्रतीकात्मक फाेटो।

फर्रुखाबाद, जेएनएन। शनिवार देर रात घर के बाहर सो रहे भट्ठा मालिक की ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई। घटना से गांव में सनसनी फैल गई। पत्नी ने दिवंगत की पहली पत्नी सरिता, उसके भतीजे गुलजारी, रिश्तेदार नरवीर और विजेंद्र के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। एएसपी अजय प्रताप और सीओ कायमगंज राजवीर सिंह गौर ने मौके पर जांच की, वहीं फील्ड यूनिट टीम ने साक्ष्य जुटाए।

ये है पूरा मामला: गांव बरई निवासी 45 वर्षीय जगजीवन राम राजपूत का चिलसरा रोड पर गांव तेजापुर निवासी सोनपाल के साझे में ईंट भट्ठा है। वहीं पर वह कमरे में पत्नी और बच्चों के साथ रहते थे। देर रात जगजीवन घर के बाहर नलकूप के चबूतरे पर सो रहे थे, जबकि पत्नी सुमन बच्ची के साथ कमरे में सो रही थी। देर रात जगजीवन को गोलियों से छलनी कर दिया गया। पत्नी सुमन ने बताया कि वह कमरे में बच्ची को बोतल से दूध पिलाने के लिए उठी थी। ताबड़तोड़ फायरिंग की आवाज सुनकर कमरे से बाहर निलकने का प्रयास किया, लेकिन किसी ने दरवाजा बाहर से बंद कर दिया था। छत पर जाकर शोर मचाने पर आए भट्ठा कर्मचारियों ने कमरे की कुंडी खोली। रात में ही सोनपाल भी मौके पर आ गए। एएसपी और सीओ के साथ थाना प्रभारी दिग्विजय सिंह भी आ गए। पुलिस ने खोखे बरामद किए हैं। 

सुमन ने बताया जगजीवन की पहली शादी जहानगंज थाना क्षेत्र के गांव जलालपुर निवासी श्यामपाल की पुत्री सरिता से हुई थी। बच्चे न होने पर दो वर्ष पहले जगजीवन ने उससे शादी कर ली। उसके द्वारा दर्ज कराई रिपोर्ट में किसी रंजिश का उल्लेख नहीं किया गया है। एसपी अशोक कुमार मीणा ने बताया कि हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। विभिन्न पहलुओं पर जांच की जा रही है। शीघ्र ही घटना का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

जगजीवन को मारी गईं तीन गोलियां: डा. अमित अग्रवाल ने पोस्टमार्टम किया। सूत्रों के मुताबिक जगजीवन को तीन गोलियां मारी गईं और सभी आर-पार हो गईं। एक गोली गर्दन के पीछे, दूसरी बायीं ओर कमर से ऊपर और तीसरी गोली दाहिने हाथ पर लगी। अनुमान है कि हत्यारे कई दिनों से रेकी कर रहे थे और जगजीवन की सांसें थमने की पुष्टि होने तक गोलियां चलाते रहे। 

महिला समेत पांच को पकड़ा: पुलिस ने कमालगंज और जहानगंज थाना क्षेत्र में छापेमारी कर महिला समेत पांच लोगों को हिरासत में लिया है। सभी से पूछताछ की जा रही है। नामजदगी सही है या गलत, इस पर भी जांच की जा रही है।

सुमन को झारखंड से लाया था भट्ठा मालिक: दिवंगत के भांजे संदीप ने बताया कि जगजीवन की पहली पत्नी से जब बच्चे नहीं हुए तो वह झारखंड से सुमन को लाए थे। सुमन अपने पहले पति से हुए दो बच्चों पुत्री आकांक्षा और छह वर्षीय पुत्र अंश को साथ लाई थी, जबकि जगजीवन से उसके पांच माह की बेटी है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.