पहली मूसलाधार बारिश ने कानपुर को किया जलमग्न, धुल गए सारे इंतजाम, तस्वीरों में देखें

Weather Forecast UP कानपुर नगर निगम लगातार दावा कर रहा था कि औद्योगिक क्षेत्र में नाला साफ हैं लेकिन मूसलाधार हुई बारिश ने सच्चाई सामने ला दी। इसके अलावा महानगर के कई क्षेत्रों में सड़कें जलमग्न हो गईं।

Shaswat GuptaWed, 28 Jul 2021 10:58 PM (IST)
कानपुर के अलग-अलग क्षेत्रों में जलभराव की तस्वीरें।

कानपुर, जेएनएन। Weather Forecast UP पहली मूसलाधार बारिश में नगर निगम और जलकल विभाग के सारे इंतजाम धुल गए। नाला, गली पिट और नाली की कागज में सफाई होने के कारण कई इलाके जलमग्न हो गए। पाश इलाके तक अछूते नहीं रहे। दुकानों व घरों के अंदर पानी भर गया।

सुबह से लोग मकानों से बारिश का पानी बाहर निकालने में लगे रहे। जूही खलवा  में कई फीट पानी भर जाने से रास्ता बंद हो गया। दुकानों के अंदर पानी भर जाने से लाखों रुपये का सामान बर्बाद हो गया। वहीं खोदी सड़कें कीचड़ में बदल गईं।

वीआइपी रोड, सिविल लाइंस और जूही खलवा पुल में पानी न भरने के किए गए सारे इंतजाम फेल हो गए। वीआइपी रोड के पास रहने वाले आसिफ ने बताया कि सुबह नींद खुली तो देखा कि रोड पर पानी भरा हुआ है।

वीआइपी रोड से लगे इलाके खलासी लाइन व अहिराना में भी पानी भर गया। पीपीएन मार्केट, साइकिल मार्केट, जरीब चौकी से पीरोड तक एक-एक फीट जलभराव रहा।

दुकानों के अंदर पानी भर गया। शिवनगर में नहर ओवरफ्लो होने से गलियों में पानी भर गया। बर्रा सात के मोहित सविता और प्रियंक द्विवेदी ने बताया कि नाले चोक हो गए। कर्रही की मनोरमा त्रिवेदी, राजेश ङ्क्षसह ने बताया कि घरों से लोगों ने बाल्टी और जग से भरकर पानी निकाला।

जाजमऊ चुंगी चौराहे से दरगाह शरीफ जाने वाली सड़क पर एक माह से नाला चोक होने  से बारिश में जलभराव हो गया। 

औद्योगिक क्षेत्रों की 250 फैक्ट्रियों में भरा पानी: नगर निगम लगातार दावा कर रहा था कि औद्योगिक क्षेत्र में नाला साफ हैं, लेकिन मूसलाधार हुई बारिश ने सच्चाई सामने ला दी। बारिश में दादानगर और पनकी एक, तीन व पांच साइड में पानी भर गया। उद्यमी विजय कपूर ने बताया कि दादानगर औद्योगिक क्षेत्र में तीन फीट तक पानी भर गया। दो सौ से ज्यादा फैक्ट्रियों में पानी भर जाने के कारण काम प्रभावित रहा। करीब ढाई करोड़ का नुकसान हुआ है। वहीं उद्यमी मनोज बंका, सुदीप बाजपेयी, राम ङ्क्षसह, एसपी अग्रवाल ने बताया कि पनकी साइड एक तीन व पांच करीब 50 फैक्ट्रियों में पानी भर गया। इससे लगभग एक करोड़ का नुकसान हुआ है। बाद में नगर निगम का अमला पहुंचा और सफाई शुरू कराई। 

यहां भी भरा पानी: फजलगंज, गड़रियनपुरवा, दामोदर नगर, यशोदानगर, गोङ्क्षवद नगर, मोतीझील, जरीब चौकी, रावतपुर, अफीम कोठी, गोपाल नगर, पशुपति नगर, शारदा नगर, गीतानगर, नौबस्ता, हनुमंत विहार, निराला नगर, गुजैनी,  जरौली, सैनिक नगर नवाबगंज,  किदवई नगर, बर्रा, शास्त्रीनगर, विजयनगर, आचार्य नगर, कौशलपुरी, शिवकटरा, श्यामनगर, लालबंगला, विनोबा नगर। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.