कानपुर में 50 लाख परिवारों तक जाने का लक्ष्य, धन संग्रह के लिए हैं अलग-अलग राशि के कूपन

संगठनों की अलग अलग टोलियां अभियान में शामिल होंगी।

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए घर-घर धन संग्रह अभियान की शुरुआत कानपुर में 15 जनवरी से होने जा रही है। धन संग्रह के लिए तीन तरह के कूपन हैं साथ ही हर परिवार को श्रीराम मंंदिर का चित्र और पत्रक भी दिया जाएगा।

Publish Date:Thu, 14 Jan 2021 11:50 AM (IST) Author: Abhishek Agnihotri

कानपुर, जेएनएन। जनमानस श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए जिस दिन का लंबे समय से इंतजार कर रहा था, अाखिर वह दिन आ ही गया है। 15 जनवरी से शुरू होने वाले श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान के लिए टोलियां, कमेटियां बनाई जा चुकी हैं। कार्यकर्ताओं के साथ व्यापारियों, उद्यमियों के बीच बैठकें हो चुकी हैं। जन जागरण यात्राओं के साथ ही अंतिम तौर पर एक-एक घर तक पहुंचने का कार्य शुरू हो जाएगा। 

27 फरवरी तक चलने वाले इस अभियान के लिए बस्ती स्तर पर टोलियां बनी हैं। इसके साथ ही एेसे लोगों की सूची भी तैयार की गई है, जो अपने कार्य से समय निकालकर अभियान में शामिल होकर लोगों को जोड़ेंगे। प्रमुख चौराहों, बाजारों, मंदिरों, पर्यटन स्थलों पर होर्डिंग, बैनर और स्टीकर्स से प्रचार प्रसार भी एक दो दिन में नजर आने लगेगा। श्रीराम मंदिर निधि समर्पण समिति के प्रांतीय अभियान प्रमुख दीनदयाल गौड़ के मुताबिक दो हजार या उससे अधिक दान देने वालों को आयकर से छूट भी मिलेगी। हालांकि घर-घर तक 10, 100 और 1,000 रुपये के कूपन के साथ ही टोलियां जाएंगी। घर-घर में राम मंदिर का चित्र और मंदिर की जानकारी का पत्रक दिया जाएगा।

कानपुर प्रांत के विहिप की दृष्टि से 21 जिला इकाइयां हैं। ये ललितपुर, झांसी ग्रामीण, झांसी महानगर, बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, बिंदकी, घाटमपुर, हमीरपुर, महोबा, उरई, इटावा, औरैया, पुखरायां, फर्रुखाबाद, कन्नौज, बिल्हौर, कानपुर पश्चिम, कानपुर उत्तर, कानपुर दक्षिण, कानपुर पूर्व क्षेत्र हैं।

कानपुर प्रांत के आंकड़े

-11,241 गांव हैं कानपुर प्रांत में।

-50 लाख परिवारों तक जाने का लक्ष्य।

-10, 100 और 1,000 रुपये के कूपन।

-2,000 या ऊपर के लिए रसीदें होंगी।

कानपुर प्रांत में इन्हें मिली जिम्मेदारी

अभियान के लिए विश्व हिंदू परिषद के प्रांय सह मंत्री दीनदयाल गौड़ को श्रीराम मन्दिर निधि समर्पण समिति कानपुर प्रांत का अभियान प्रमुख बनाया गया है। इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सेवानिवृत्त वरिष्ठ आॅडिटर परमानंद अग्रवाल प्रांतीय हिसाब प्रमुख, सेवानिवृत्त क्षेत्राधिकारी व राष्ट्रपति पदक विजेता गंगा नारायण मिश्रा को प्रांतीय कार्यालय प्रमुख बनाया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.