दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

कानपुर के अस्पताल में भर्ती किशोरी ने खोली आंखें, Unnao Case की है इकलौती चश्मदीद, ICU के बाहर पुलिस तैनात

नाम पुकारने पर वह आंखें खोलती है और सिर हिलाकर जवाब देती है।

Unnao Case उन्नाव के असोहा थानाक्षेत्र के गांव में खेत पर बेसुध मिली थी किशोरी। कानपुर के निजी अस्पताल में चल रहा उपचार एक दो दिन में बोलने की उम्मीद। काकादेव थाना प्रभारी ने बताया कि किशोरी की हालत ठीक है।

Shaswat GuptaSat, 20 Feb 2021 06:28 PM (IST)

कानपुर, जेएनएन। Unnao Case Latest Update  कानपुर के अस्पताल में भर्ती किशोरी में सुधार होता देख चिकित्सक और पुलिस की टीम ने राहत की सांस ली। बता दें कि उक्त किशोरी बुधवार उन्नाव जनपद के असोहा थाना क्षेत्र के गांव स्थित एक गांव में अपनी दो अन्य बहनों के साथ मिली थी। जिनमें से दो की मौत हो चुकी थी। हालांकि मामले का राजफाश शुक्रवार रात को ही गया था। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान ऐसे कयास लगाए जा रहे थे मामल ऑनर किलिंग का है, लेकिन मामला एकतरफा प्यार का निकला और आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया। 

वेंटिलेटर सपोर्ट डॉक्टरों ने हटाया

शनिवार को किशोरी की स्थिति में सुधार देख डॉक्टर ने उसका वेंटिलेटर सपोर्ट हटा दिया है। एक दो दिन में किशोरी के पूरी तरह ठीक होने की उम्मीद जताई जा रही है। इसके बाद सबसे पहले किशोरी के मजिस्ट्रेट के सामने बयान होंगे। उन्नाव पुलिस आइसीयू के बाहर ही तैनात है और किसी को भी किशोरी से मिलने नहीं दे रही है। गुरुवार देर रात डॉक्टरों के पैनल ने उसका उपचार शुरू किया था। दो दिन तक किशोरी गंभीर हालत में थी, लेकिन शुक्रवार को उसके शरीर में हरकत और पलकें झपकती देख डॉक्टरों ने राहत की सांस ली। मेडिकल बुलेटिन जारी करके उन्होंने बताया था कि वह और सुधार होने पर वेंटिलेटर सपोर्ट को कम करने की कोशिश करेंगे। अस्पताल के पीआरओ परमजीत अरोड़ा ने बताया कि वेंटिलेटर हटाकर अागे का इलाज किया जा रहा है। किशोरी की हालत पहले से बेहतर है। 

यह भी पढ़ें: किशोरियों की हत्या में शामिल आरोपित 24 घंटे में नाबालिग से हुआ बालिग, पढ़िए- कैसे सामने आया सच

इनका ये है कहना 

काकादेव थाना प्रभारी ने बताया कि किशोरी की हालत ठीक है। नाम पुकारने पर वह आंखें खोलती है और सिर हिलाकर जवाब देती है। उसके पूरी तरह ठीक होने के बाद सबसे पहले मजिस्ट्रेट बयान लेंगे। परिवारवाले जब भी देखने की इच्छा जताते हैं तो आइसीयू के बाहर से ही उन्हें दिखाया जाता है।

यह भी पढ़ें: उन्नाव प्रकरण पर CM याेगी ने दी प्रतिक्रिया, घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, जानिए - क्या कहते हैं विपक्षी नेता

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.