Township Resort निगल रहे सरकारी जमीन और चकमार्ग, KDA और राजस्व विभाग ने मूंदीं आंखें

विकास प्राधिकरण के अधिसूचित गांवों की जिन बेशकीमती सरकारी जमीन का प्रयोग विप्रा की आवासीय योजनाओं में किया जा सकता था उन्हेंं निजी डेवलपर और बिल्डर लूट रहे हैं। केडीए की प्रस्तावित न्यू कानपुर सिटी आवासीय योजना में आ रहे गांवों और उसके आसपास ये खेल खूब हो रहा है।

Akash DwivediTue, 20 Jul 2021 11:34 AM (IST)
चारागाह और खेल के मैदान तक टाउनशिपों में कैद कर रहे

कानपुर, जेएनएन। गंगा कटरी में सरकारी जमीन की लूट का राजफाश होने के बाद भी केडीए और राजस्व विभाग सक्रिय नहीं हुआ। संबंधित विभागों की लापरवाही और मिलीभगत के चलते ही न तो सरकारी जमीन की लूट रुकी और न ही चकमार्गों को खुर्द-बुर्द करने का सिलसिला बंद हुआ। गंगा बैराज क्षेत्र का नियोजित विकास सुनिश्चित कराने के लिए कमिश्नर की ओर से तमाम विभागों की समिति बनाए जाने के बाद भी निजी डेवलपर चारागाह और खेल के मैदान तक टाउनशिपों में कैद कर रहे हैं।

कानपुर विकास प्राधिकरण के अधिसूचित गांवों की जिन बेशकीमती सरकारी जमीन का प्रयोग विप्रा की आवासीय योजनाओं में किया जा सकता था, उन्हेंं निजी डेवलपर और बिल्डर लूट रहे हैं। केडीए की प्रस्तावित न्यू कानपुर सिटी आवासीय योजना में आ रहे गांवों और उसके आसपास ये खेल खूब हो रहा है। गंगा बैराज क्षेत्र में हिंदूपुर और सिंहपुर कछार गांवों के अलावा नारामऊ बांगर गांव में विकसित हो रही टाउनशिप की बाउंड्री में खेल के मैदान, चारागाह, नाला और दर्जनों चकमार्गोंं की जमीन खुर्द-बुर्द की गई है। एनजीटी भले गंगा और उसकी सहायक नदियों के जलस्रोत संरक्षित करने की हिमायत करे पर कल्याणपुर-बिठूर रोड पर नून नदी के बहाव क्षेत्र की जमीन पर आलीशान रिसार्ट बनकर तैयार हो चुका है।

टाउनशिप-1 : सिंहपुर कछार ग्राम पंचायत में गंभीरपुर गांव के लिए जाने वाली सड़क पर नहर के किनारे विकसित हो रही टाउनशिप में मिनजुमला भूमि नंबर 390 की नवीन परती 0.1470 हेक्टेयर भूमि के साथ भूमि संख्या 357, 381, 386 और 402 पर स्थित चकमार्ग की 0.2980 हेक्टेयर भूमि को डेवलपर ने खुर्द-बुर्द कर चाहरदीवारी के अंदर कर लिया है।

टाउनशिप-2 : बैराज मार्ग और मैनावती मार्ग के बीच विकसित हो रही टाउनशिप में हिंदूपुर गांव की भूमि संख्या 561ख पर 0.4000 हेक्टेयर का खेल का मैदान, सिंहपुर कछार गांव की भूमि संख्या 259 पर 32 बिसवा की चारागाह की जमीन के साथ भूमि संख्या 186, 195 व 266 के चकमार्गों की 0.3050 हेक्टेयर जमीन डेवलपर ने बाउंड्री के घेरे में ले ली है।

टाउनशिप-3 : कल्याणपुर में कानपुर-अलीगढ़ हाईवे के किनारे नारामऊ बांगर व कछार गांव में विकसित हो रही टाउनशिप में भूमि संख्या 57 में केडीए की 0.7250 हेक्टेयर व अरबन सीलिंग की 0.1280 हेक्टेयर जमीन के अलावा नारामऊ कछार में भूमि संख्या 476 में नवीन परती की 0.2970 हेक्टेयर और नारामऊ बांगर में भूमि संख्या 497 में नाला की 0.2870 हेक्टेयर के अलावा भूमि संख्या 492, 513, 515, 512, 493, 467 पर स्थित चकमार्गों की 1.4040 हेक्टेयर जमीन बाउंड्री में ले ली गई है।

रिसार्ट : कल्याणपुर-बिटूर मार्ग पर हिंगूपुर ग्राम पंचायत से होकर गुजरी नून नदी के बहाव क्षेत्र की भूमि संख्या 110 और 112 की 0.7340 हेक्टेयर जमीन पर आलीशान रिसार्ट ने कब्जा कर जमीन बाउंड्री के दायरे में ली है। यहां पक्के निर्माण भी हुए हैं। सिंचाई विभाग की अनदेखी से एनजीटी के प्रतिबंधों को ठेंगा दिखाया जा रहा है।

इनका ये है कहना

चकरोड, चारागाह, खेल के मैदान और ग्राम समाज की जमीन टाउनशिप में दबा लेने वालों को चिह्नित करके कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। सरकारी जमीन पर कब्जा कर लेने वालों को हरगिज नहीं छोड़ा जाएगा। - आलोक तिवारी, जिलाधिकारी व उपाध्यक्ष केडीए  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.