भैंस की फिक्र में खूंखार हो गए थे ग्रामीण, मानसिक रोगी को चोर समझकर मार डाला था

मानसिक रोगी को चोर समझकर जानवर की तरह पीटा था।

मानसिक रोगी को चोर समझकर पीटकर मार डालने का जो वीडियो वायरल हुआ वह रोंगटे खड़े कर देने वाला है। वीडियो में मानसिक रोगी पीने को पानी मांग रहा है लेकिन निवर्तमान ग्राम प्रधान सहित अन्य उसे पानी देने के बजाए डंडे से पीट रहे हैैं।

Sarash BajpaiThu, 04 Mar 2021 08:45 PM (IST)

कानपुर, जेएनएन। बसरेहर (इटावा) के गांव में सिरसा में बीते बुधवार तड़के भैंस चोर समझ पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिए गए मानसिक रोगी 45 वर्षीय नेत्रपाल यादव के साथ जो बर्बरता हुई, उससे इंसानियत शर्मसार हो गई। घटना का वीडियो सामने आया है, जिसमें दृश्य रोंगटे खड़े करने वाले हैं। एक जानवर की फिक्र में ग्रामीण मानसिक रोगी के साथ खुद खूंखार जानवर की तरह पेश आए। बिजली के पोल में बांधकर डंडे मारे जाने के दौरान नेत्रपाल लोगों से पानी मांग रहा था, पर निवर्तमान प्रधान और अन्य लोग उस पर बेरहमी से तब तक डंडे बरसाते रहे जब तक वह बेहोश नहीं हो गया। उसके इलाज में भी हीलाहवाली की गई, जिससे वह तड़प-तड़प मर गया। हालांकि, दैनिक जागरण वायरल हुए वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

नेत्रपाल पुत्र नाथूराम यादव निवासी नगला बाग थाना भरथना के चचेरे भाई सनोज कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें आरोप लगाया है कि बंधक बनाकर नेत्रपाल को डंडों से इतनी बुरी तरह पीटा गया, वह लहूलुहान हो गया। पानी-पानी मांगते हुए वह बेहोश हो गया, तब इन लोगों ने पीटना बंद किया। निवर्तमान प्रधान अपनी कार से उसे सीएचसी बसरेहर लाया। सीएचसी प्रभारी बसरेहर डॉ. विकास सचान ने बताया कि शुरुआती दौर में निवर्तमान प्रधान में जिस तरीके से बात की, उससे लगा जैसे उसे बचाकर अस्पताल लाए हैं। लेकिन, जब जिला अस्पताल के लिए रेफर किया तो वह आनाकानी करने लगे। इस पर पुलिस को सूचना भेजी गई। इस दौरान उसने दम तोड़ दिया।

निवर्तमान प्रधान समेत दो हिरासत में, कार से मिला खून से सना डंडा और अंगौछा

बसरेहर थाना प्रभारी मुकेश कुमार सोलंकी ने बताया कि गुरुवार दोपहर सिरसा के निवर्तमान प्रधान स्वतंत्र चौधरी को कल्लाबाग के पास महिंहद्रा टीयूवी की गाड़ी सहित पकड़ लिया गया। गाड़ी में खून से सना डंडा और अंगौछा मिला। कार में कई जगह खून के धब्बे थे। इसी गांव के बृजेश को भी पकड़ लिया गया। उन्होंने बताया कि घटना का एक वीडियो भी पुलिस को मिला है, जिसमें निवर्तमान प्रधान और अन्य नेत्रपाल को बंधक बनाकर पीटते नजर आ रहे हैं। इसके आधार पर अभियोग की धाराओं में बढ़ोतरी की गई है। जो-जो अभियुक्त हैं, सभी वीडियो में नजर आ रहे। सबकी धरपकड़ जारी है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.