कानपुर में बिना लीकेज ठीक किए बिना ही बन रही स्मार्ट रोड, फिर धंसने का अनुमान

पार्षद अमोद त्रिपाठी ने बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन से 34 करोड़ रुपये से फूलबाग की 2.3 किमी रोड बनायी जा रही है। पिछले चार साल से रोड बन रही है। ऊपर से तो सड़क बेहतर दिख रही है लेकिन अंदर लीकेज है।

Shaswat GuptaFri, 18 Jun 2021 03:24 PM (IST)
कानपुर की सड़कों पर लीकेज की प्रतीकात्मक फोटो।

कानपुर, जेएनएन। शहर में स्मार्ट रोड बिना पेयजल और सीवरेज लीकेज ठीक किए बन रही है। इसके चलते ऊपर से अच्छी दिख रही है, लेकिन अंदर अंदर धंस रही है। जो कि कभी भी बैठ सकती है। यह हाल शहर की अन्य सड़कों का है। पार्षदों ने सदन में मामला उठाया कि पहले लीकेज ठीक कराई जाए फिर सड़क बनायी जाए।

पार्षद अमोद त्रिपाठी ने बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन से 34 करोड़ रुपये से फूलबाग की 2.3 किमी रोड बनायी जा रही है। पिछले चार साल से रोड बन रही है। ऊपर से तो सड़क बेहतर दिख रही है, लेकिन अंदर लीकेज है। पहले लीकेज ठीक किए जाएं उसके बाद सड़क का निर्माण कराया जाए। साथ ही रोड के किनारे खड़े होने वाले ठेलों को भी व्यवस्थित किया जाए। अमोद त्रिपाठी के अतिरिक्त पार्षद सुहैल अहमद, महेंद्र पांडेय, रसीद महमूद, मो आमिर, मो अमीम, मनोज पांडेय, अरविंद यादव, नवीन पंडित, रीता पासवान, निर्मल मिश्रा, नामिता, नूर आलम, सौरभ देव, रमेश हटी, राजीव सेतिया, आरती गौतम, शशि साहू, सुधा सचान, अंजू मिश्रा ने भी एकस्वर में कहा कि सड़क बनाने से पहले सीवरेज और पेयजल के लीकेज ठीक किए जाएं। जगह-जगह जल निगम के लीकेज के कारण सड़क खतरनाक हो गयी है। कभी भी सड़क धंस सकती है। कई बार शिकायत करने के बाद भी आज तक लीकेज नहीं ठीक किया गया है। इसके चलते रोज लाखों लीटर पानी बह जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.