Sikh Riots Kanpur: दंगा पीड़ित महिला के बयान लेने आज चेन्नई जाएगी टीम, चकेरी में दो भाइयों की हुई थी हत्या

कानपुर में हुए सिख दंगों से संबंधित सांकेतिक चित्र।

बड़े भाई की पत्नी बच्चों समेत लंदन में छोटे भाई की पत्नी चेन्नई में रह रहीं। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद जेके कॉलोनी में एक नवंबर 1984 को दो सगे भाइयों नरेंदर सिंह और सुरेंदर सिंह की ईंट पत्थरों से कुचलकर हत्या कर दी गई थी।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 10:23 AM (IST) Author: Shaswat Gupta

कानपुर, जेएनएन। सिख विरोधी दंगे के दौरान चकेरी थानाक्षेत्र की जेके कॉलोनी में जिन दो सगे भाइयों की हत्या हुई थी, उनके परिवार की एक महिला के बयान लेने के लिए सोमवार को टीम चेन्नई रवाना होगी। वह महिला घटना की चश्मदीद बताई जा रही हैं और उनकी गवाही से वारदात में शामिल दंगाइयों के नामों का राजफाश होने की उम्मीद है।

एसआइटी ने ढूंढ़ निकाले अहम सुबूत 

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद जेके कॉलोनी में एक नवंबर 1984 को दो सगे भाइयों नरेंदर सिंह और सुरेंदर सिंह की ईंट पत्थरों से कुचलकर हत्या कर दी गई थी। बाकी परिवारवालों ने बच्चों समेत दूसरे घरों की छतों पर चढ़कर अपनी जान बचाई थी। वारदात के बाद इस परिवार ने भी पलायन कर दिया था। सिख विरोधी दंगों के दौरान दर्ज मुकदमों की विवेचना के लिए बनी एसआइटी ने इस मुकदमे में भी सुबूत ढूंढ़ निकाले हैं। दिवंगत नरेंदर की पत्नी मंजीत कौर वर्तमान में बच्चों के साथ लंदन में रह रही हैं, जबकि दिवंगत सुरेंदर की पत्नी हरविंदर कौर अपने बच्चों के साथ चेन्नई में रहती हैं। पिछले दिनों जब एसआइटी ने मंजीत कौर से फोन पर बात की तो उन्होंने कानपुर आने से इन्कार कर दिया था। इसके बाद टीम ने हरविंदर कौर से संपर्क किया और अब उनके बयान लेने के लिए चेन्नई जा रही है। एसआइटी के एसपी बालेंदु भूषण ने बताया कि जेके कॉलोनी में हुई वारदात की एक पीड़ित महिला चेन्नई में रह रही हैं। उनके बयान लेने के लिए विवेचक को भेजा जा रहा है। दो-तीन दिन में बयान होने की उम्मीद है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.