Religion Conversion UP: मो. उमर के संपर्क में आकर हरिश्चंद्र बन गया था हसमत अली, जानिए; क्या बोले स्वजन

Religion Conversion UP फतेहपुर में मो. उमर गौतम के संपर्क में आने के हरिश्चंद हसमत अली बन गया। पिछले कई दिनों से चल रही जांच के बाद यह चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। गौरतलब है एक कि दिन पहले पकड़े गए विजय को पुलिस ने जेल भेज दिया।

Shaswat GuptaPublish:Sun, 27 Jun 2021 09:07 PM (IST) Updated:Mon, 28 Jun 2021 12:25 AM (IST)
Religion Conversion UP: मो. उमर के संपर्क में आकर हरिश्चंद्र बन गया था हसमत अली, जानिए; क्या बोले स्वजन
Religion Conversion UP: मो. उमर के संपर्क में आकर हरिश्चंद्र बन गया था हसमत अली, जानिए; क्या बोले स्वजन

फतेहपुर, जेएनएन। Religion Conversion UP मतांतरण कराने के मामले में गिरफ्तार मोहम्मद उमर गौतम की गतिविधियों के केंद्र के रूप में सामने आए शहर के नूरुल हुदा इंग्लिश स्कूल में प्रशासन की कमेटी ने रविवार को जांच की। राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने तीन दिन में इस स्कूल के बारे में रिपोर्ट मांगी है। टीम ने शिक्षक-शिक्षिकाओं, बच्चों व अभिभावकों को बुलाकर 50 लोगों के बयान वीडियोग्राफी के साथ दर्ज किए। सीसीटीवी कैमरे की हार्ड डिस्क भी कब्जे में ली है, मगर उसमें कक्षा व प्रार्थना सभा स्थल की फुटेज गायब हैं। 

उमर की गिरफ्तारी के साथ मतांतरण का खेल जैसे ही सामने आया, स्कूल की एक पूर्व शिक्षिका कल्पना सिंह ने प्रशासन से स्कूल में उमर के आने, बच्चों को उर्दू-अरबी जबरन पढ़ने का दबाव बनाने समेत मतांतरण के लिए प्रेरित करने की शिकायत की। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने स्वत: संज्ञान लेकर डीएम से रिपोर्ट मांगी। रविवार को एसडीएम प्रमोद झा, जिला विद्यालय निरीक्षक महेंद्र सिंह, बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह, सीओ सिटी संजय सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी राजेश सोनकर, नायब तहसीलदार विकास पांडेय ने स्कूल में करीब तीन घंटे जांच की। पूर्व और वर्तमान प्रधानाचार्य, आठ शिक्षक-शिक्षिकाओं, हिंदू बच्चों-अभिभावकों के बयान दर्ज किए। जांच टीम के मुताबिक, फिलहाल मतांतरण के लिए प्रेरित करने की कोई पुष्टि नहीं हुई। सीसीटीवी कैमरों की हार्ड डिस्क में मुख्य द्वार के हिस्से की 15 दिन की रिकार्डिंग है, शेष गायब है। कक्षाओं की ओर लगे कैमरे लगातार बंद रहे। 

उमर के सपंर्क में आए हरिश्चंद्र ने भी किया मतांतरण: मतांतरण के खेल की जांच शुरू हुई तो नए मामले सामने आने लगे हैं। शहर के पृथ्वीपुरम मोहल्ले में आठ साल पहले हरिश्चंद्र मतांतरण कर हसमत अली बन गया। एटीएस को भेजी गई शिकायत में मोहल्ले वालों ने बताया है कि स्वजन के विरोध करने पर वह पठान मोहल्ले में रहने लगा। हरिश्चंद्र एक स्कूल के माध्यम से उमर गौतम के संपर्क में आया था। हरिश्चंद्र के भाई राम सिंह ने बताया, यह सही है, भाई अब हसमत अली बन गया है, लेकिन हमारा उससे कोई मतलब नहीं है। उधर, राजस्व रिकार्ड की खतौनी में भी हरिश्चंद्र उर्फ हसमत लिखा हुआ है। 

पत्नी व स्वजन पर मतांतरण का दबाव डालने वाले विजय को भेजा जेल: पुरमई गांव के मतांतरण के आरोपित विजय सोनकर को पुलिस ने जेल भेज दिया। शनिवार रात उसे गिरफ्तार किया गया था। विजय की पत्नी के मुताबिक, पति दो वर्ष पहले रोजगार की तलाश में हल्द्वानी गया था। 15 दिन पहले वह घर आया था। उसके क्रियाकलाप बदले लगे। रिश्तेदारों ने समझाने का प्रयास किया तो विजय उनसे झगड़ने लगा। पत्नी ने बताया कि पति उसका व स्वजन का मतांतरण कराना चाहता था। इन्कार पर मारपीट करता था। विजय ने पुलिस को बताया कि वह हल्द्वानी में सलीम निवासी जिला रामपुर के साथ ड्राइवर का काम करता था। उसके कहने पर मतांतरण किया। प्रभारी निरीक्षक वीरेंद्र सिंह ने बताया कि उप्र धर्म परिवर्तन (मतांतरण) अधिनियम व मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।