प्लांट में कम हुई कतारें, आसान हुआ सिलिंडर भराना

प्लांट में कम हुई कतारें, आसान हुआ सिलिंडर भराना

शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण की स्थिति थोड़ी संभलने के साथ ही ऑक्सीजन प्लांट में लगने वाली लोगों की कतार छोटी होने लगी है।

JagranMon, 10 May 2021 01:54 AM (IST)

जेएनएन, कानपुर: शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण की स्थिति थोड़ी संभलने के साथ ही ऑक्सीजन प्लांट पर लगने वाली लंबी कतारें भी अब कम होने लगी हैं। दरअसल दूसरी लहर के पीक पर पहुंचने के दौरान अस्पतालों में संक्रमितों को बेड़ उपलब्ध नहीं होने से वे अपना इलाज घर में ही रहकर करा रहे थे। ऐसी स्थिति में ऑक्सीजन प्लांट पर सिलिंडर भराने के लिए उनके परिवार वालों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा था। मांग बढ़ने के साथ ही ऑक्सीजन प्लांट पर काम करने वाले मजदूरों को भी आराम नहीं मिल पा रहा था। अब स्थिति यह है कि वह बैठकर तीमारदारों का इंतजार कर रहे हैं। अब दादानगर स्थित चमन गैस प्लांट के मालिक संदीप अरोड़ा ने बताया कि तीन दिनों से ऑक्सीजन की डिमांड कम होती जा रही है। उन्होंने बताया कि पहले 400 सिलिडर रोज भरते थे। अब संख्या घटकर 100 से 50 तक के बीच हो गई है। तीमारदार आसानी से सिलिडर भरवा रहे हैं। अब 45 से 55 मिनट में काम हो जा रहा है। अफीम कोठी से आए नवाब सिंह ने बताया कि बब्बर गैस में अक्सर भीड़ रहती है। घंटों लाइन लगाने के बाद नंबर आता है,लेकिन अब चमन गैस में आराम से सिलिडर रिफिल हो रहा है। इस वजह से यहां रिफिल के लिए आये। इसी तरह हरिओम,मुरारी और पनकी ऑक्सीजन प्लांट में सिर्फ अस्पतालों की गाड़ियों के सिलिडर भरे गए। वहीं, शनिवार दोपहर जब चमन गैस में लाइन नहीं थी तो उसी दौरान फजलगंज स्थित बब्बर गैस प्लांट में 30 से 40 तीमारदार लाइन में खड़े थे। उर्सला में बाहर से नहीं मंगाने पड़ेंगे 110 जंबो ऑक्सीजन सिलिडर, कानपुर : मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर ने उर्सला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां स्थापित किए गए ऑक्सीजन प्लांट को देखा। उन्हें बताया गया कि अस्पताल में प्रतिदिन 150 जंबो सिलिडर बाहर से मंगवाया जाता है। चार दिन बाद जब ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट शुरू हो जाएगा तो 110 जंबो सिलिडर बाहर से नहीं मंगवाने पड़ेंगे। यहां लगने वाला सिलिडर प्रति मिनट पांच सौ लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करेगा। मंडलायुक्त ने कहा कि परीक्षण का कार्य समय से पूरा कर लिया जाए। उर्सला के निदेशक ने उन्हें बताया कि ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना करने वाली कंपनी ही तीन वर्ष तक इसका रखरखाव भी करेगी। ऑक्सीजन प्लांट के लिए 50 लाख रुपये देंगे एमएलसी, उन्नाव: स्नातक एमएलसी अरुण पाठक ने अपनी विधायक निधि से कानपुर, कानपुर देहात व उन्नाव में ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण के लिए 50-50 लाख रुपये देने का निर्णय लिया है। रविवार को उन्होंने डीएम व सीडीओ को पत्र लिखकर ऑक्सीजन प्लांट लगाने का प्रस्ताव बनाकर उपलब्ध कराने की बात कही है। एमएलसी ने कहा कि प्रस्ताव मिलते ही अपने कार्य क्षेत्र में आने वाले उन्नाव, कानपुर और कानपुर देहात के लिए विधायक निधि से 50-50 लाख रुपये की धनराशि जारी कर देंगे। पुलिस के प्लाज्मा बैंक से नहीं जुड़ रहे दानदाता, कानपुर: पुलिस ने पिछले दिनों प्लाज्मा बैंक की शुरुआत की थी, 15 दिन गुजर जाने के बाद भी दानदाता नहीं मिले। पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक प्लाज्मा दान करने के लिए अब तक 27 लोगों ने आवेदन किया है, जिसमें से केवल हेड कांस्टेबिल सागर पोरवाल ने प्लाज्मा दान दिया। अन्य अभी प्लाज्मा देने के लिए उपयुक्त नहीं है। जिन 27 लोगों ने आवेदन किए हैं, उनमें से कोई भी अभी प्लाज्मा दान करने के लिए उपयुक्त नहीं पाया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.