दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

संक्षेप में पढ़िए- कानपुर शहर की कोरोना से जुड़ी खबरें

कानपुर में हुई गतिविधियों से जुड़ी खबरों की सांकेतिक तस्वीर।

कोरोना महामारी के दौर में कानपुर शहर में कहीं किसी मरीज की इलाज के अभाव में मौत हो रही है तो कोई ऑक्सीजन और समुचित उपचार के अभाव में दम तोड़ रहा है। हालांकि ऐसे में स्वास्थ्यकर्मी जी-जान से लोगों को बचाने मे जुटे हैं। जानिए - क्या हैं खबरें

Shaswat GuptaFri, 14 May 2021 06:10 AM (IST)

शहर में 87 घंटे में आई चौथी आक्सीजन ट्रेन

बंगाल से ट्रेन के जरिए शहर में अब तक 200 टन  आक्सीजन आ चुकी है। बुधवार देर रात एक बजे करीब चौथी ट्रेन आई जो गुरुवार सुबह खाली होकर वापस चली गई। लगातार आक्सीजन की आपूर्ति और मांग में कमी की वजह से शहर में प्लांटों पर भी आक्सीजन लेने वालों की भीड़ भी अब कम हो गई है। बुधवार देर रात जूही रेलवे यार्ड इनलैंड कंटेनर डिपो में चौथी ट्रेन दो आक्सीजन कंटेनर के साथ आई। दोनों में 20-20 टन आक्सीजन थी। इसे खाली करने में गुरुवार सुबह हो गई। इस आक्सीजन को भी पनकी स्थित इंडेन के डिपो में पहुंचा दिया गया। 120 टन क्षमता वाले इंडेन के कंटेनर से ही इस समय कानपुर व आसपास के जिलों में आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

आक्सीजन प्लांट 30 मीटर दूरी दायरे नहीं खड़ी होगी

फजलगंज स्थित बब्बर गैस प्लांट के बाहर खड़ी वैन में धमाके के बाद प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। अब प्लांट से 30 मीटर के दायरे में कोई वाहन खड़े नहीं हो सकेंगे। इसके साथ ही अब प्लांट में बड़े की अपेक्षा छोटे सिलिंडर ज्यादा रिफिलिंग के लिए आ रहे हैं। बब्बर गैस के मालिक सुमित ने बताया कि प्लांट के बाहर धमाके के बाद प्रशासन ने यहां पुलिस तैनात कर दी है। अब कोई भी वाहन प्लांट के 30 मीटर के दायरे में खड़ा नहीं किया जा रहा है, ताकि कोई हादसा होने पर प्लांट में नुकसान न हो। इसके साथ ही अब आक्सीजन की मांग कम होती जा रही है। पहले की अपेक्षा अब बड़े की जगह छोटे सिलिंडर ज्यादा आ रहे हैं, क्योंकि जरूरत के हिसाब से तीमारदार सिलिंडर भरवाने आ रहे हैं। चमन गैस प्लांट के मालिक संदीप अरोड़ा ने बताया कि डीएम की ओर से आदेश जारी हुए हैं कि बिना चिकित्सक के पर्चे के किसी तीमारदार को सिलिंडर नहीं दिया जाए, इसके चलते अब रिफिल कराने आए तीमारदारों से पर्चे की फोटो कॉपी ली जा रही हैं। संदीप ने बताया कि कुछ ऐसे भी तीमारदार आए जो कोरोना कफ्र्यू के दौरान चिकित्सक के पर्चे की फोटो कॉपी नहीं करा पाये थे। वहीं, मुरारी गैस, हरिओम गैस प्लांट में भी कुछ तीमारदार सिलिंडर भरवाने आए।

आक्सीजन कंसंट्रेटर और बाइपैप करेंगे दान

शहर में लोगों को आक्सीजन उपलब्ध कराने के मकसद से परिवर्तन संस्थान की ओर से 'हेल्प कानपुर ब्रीथ' अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत संस्था की ओर से अस्पतालों को तीन आक्सीजन कंसंट्रेटर और चार बाइपैप मशीन दान किए जाएंगे। इतना ही नहीं आने वाले दिनों में दो सौ आक्सीजन कंसनट्रेटर दान करने का लक्ष्य रखा गया है। परिवर्तन संस्था के मीडिया प्रभारी अनूप द्विवेदी ने बताया कि 200 आक्सीजन कंसंट्रेटर मंगवाए हैं। इसमें 100 आक्सीजन कंसंट्रेटर इसी सप्ताह आ जाएगी जबकि शेष अगले सप्ताह तक आएंगे। संस्था निजी लोगों को भी जरूरत पडऩे तक आक्सीजन कंसंट्रेटर देने पर विचार कर रही है। वहीं, ग्रेस व एसपीएम को एक-एक जबकि नारायण हॉस्पिटल को दो बाइपैप मशीन दी जाएगी। जेएल रोहतगी, द्विवेदी और तुलसी हॉस्पिटल को एक-एक आक्सीजन कंसंट्रेटर दिया जाएगा।

आज निरस्त रहेगी कानपुर सीएसएमटी

देश भर में कोविड संक्रमण के चलते लोगों ने यात्रा बंद कर दी है। ऐसे में रेलवे को कई ट्रेनों में यात्री लोड नहीं मिल रहा है। इसी क्रम में कानपुर से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल (सीएसएमटी) को जाने वाले विशेष आरक्षित ट्रेन को शुक्रवार को निरस्त कर दिया गया है। जनसंपर्क अधिकारी रागिनी ङ्क्षसह ने बताया कि ट्रेन संख्या 04156 कानपुर से 14 मई को और ट्रेन संख्या 04155 ट्रेन सीएसएमटी से 16 मई को निरस्त रहेगी।

चार साहिबजादा पार्क में लगाया निश्शुल्क आक्सीजन कैंप

आक्सीजन के लिए भटक रहे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सिख संगठनों ने निश्शुल्क आक्सीजन कैंप की शुरुआत की है। खालसा एड, गुरु नानक मेडिकल सेवा, गुरु गोविंद सिंह स्टडी सर्किल व अन्य सिख संगठनों में मिलकर गुरुद्वारा लाजपत नगर के सामने चार साहिबजादा पार्क में कैंप लगाया गया। यहां आक्सीजन कंसंट्रेटर से मरीजों को आक्सीजन दी जा रही है। कैंप सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक चला। कैंप रविवार तक चलता रहेगा। खालसा एड की तरफ से आठ कंसंट्रेटर लगाए गए है। कैंप में सरदार दविंदर सिंह, सरदार जसविंदर सिंह, अमनदीप सिंह, टीपी सिंह सोनू, गुरप्रीत सिंह, वीर सिंह आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.