संक्षेप में पढ़िए - कानपुर नगर की क्राइम और अन्य घटनाओं से जुड़ी खबरें

कानपुर शहर में प्रतिदिन ही शिक्षा राजनीति और अन्य गतिविधियां होती ही रहती हैं। हम खबरों की इस कड़ी में आपको क्राइम और अन्य घटनाओं की ऐसी ही संक्षेप खबरें उपलब्ध कराते हैं। गुरुवार को भी ऐसी कई खबरें सामने आईं। आइए जानते हैं

Shaswat GuptaFri, 30 Jul 2021 06:05 AM (IST)
कानपुर में हुई गतिविधियों से जुड़ी खबरों की सांकेतिक तस्वीर।

 पनकी में युवक ने लगाई फांसी 

पनकी थाना क्षेत्र के बहेड़ा गांव निवासी लखन लाल कमल के 26 वर्षीय बेटे उमा शंकर ने बुधवार देर रात संदिग्ध हालातों में रस्सी के सहारे पंखे से फांसी लगा ली। गुरुवार सुबह मां रमा देवी सोकर उठीं तो उन्होंने बरामदे में बेटे का शव लटका देखा। पनकी थाना प्रभारी दधिबल तिवारी ने बताया कि घटनास्थल की जांच की गई, लेकिन कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। मृतक के फोन की जांच की जा रही है।

जमीन बेचने का झांसा देकर गत्ता फैक्ट्री संचालक संग 40 लाख की धोखाधड़ी 

गोङ्क्षवद नगर में शातिरों ने गत्ता फैक्ट्री संचालक को जमीन बेचने के नाम पर 40 लाख की धोखाधड़ी कर ली। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने नौ लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। रावतपुर गांव निवासी दीपक शुक्ल की गत्ता फैक्ट्री है। पनकी गंगागंज निवासी रामदत्त ने उन्हें वर्ष 2018 में एक जमीन दिखाई थी। जिसका सौदा 1.48 करोड़ में तय हुआ था। बतौर एडवांस उन्होंने 20 लाख रुपये देकर इकरार नामा कराया था। आरोप है कि अलग-अलग बहाने बनाकर उनसे 20 लाख रुपये और ले लिए गए। फरवरी 2021 में पता चला कि जिस जमीन का सौदा उन्होंने किया था वह रामदत्त ने किसी और को बेच दी है। इसका विरोध करते हुए उन्होंने फोन पर रुपये वापसी की मांग की तो रामदत्त समेत अन्य आरोपितों ने उन्हें गोविंदपुरी पुल पर बुलाया। आरोप है कि वहां पहुंचने पर रामदत्त, उसकी पत्नी मुन्नीदेवी, बेटे दीपक, शाकिर उर्फ राजा, अमित नारायण, ललित त्रिवेदी, रंजना मिश्रा, उदित नारायण, उमेश शर्मा आदि ने गाली-गलौज करते हुए जानमाल की धमकी दी। थाना प्रभारी गोङ्क्षवद नगर अनुराग मिश्र ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

ईओडब्ल्यू करेगी कोआपरेटिव सोसायटी के खिलाफ मुकदमे की जांच 

काकादेव में सहारा क्रेडिट केयर सोसायटी के खिलाफ दर्ज धोखाधड़ी व जालसाजी के मुकदमे की विवेचना आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) स्थानांतरित कर दी गई है। जल्द ही वादी व अन्य गवाहों के बयान लिए जाएंगे। 27 फरवरी 2021 को मंधना के पेम गांव निवासी आशुतोष कुमार, छोटेलाल पांडेय, सर्वजीत ङ्क्षसह, संजय कुमार गुप्ता आदि ने सहारा क्रेडिट केयर सोसायटी के खिलाफ मुकदमा लिखाया था। आरोप है कि सोसायटी ने करीब 1.58 करोड़ रुपये निवेश के नाम पर जमा कराकर हड़प लिए। इसके चलते कई निवेशकों के सामने आर्थिक संकट है। मुकदमे में चेयरमैन डीके श्रीवास्तव, एके श्रीवास्तव, करुणेश अवस्थी, एसएच हलदर, वीके वर्मा, एनके सेंगर, तारिक हुसैन, एचएस बाजपेयी को नामजद कराया गया था। ईओडब्ल्यू के एसपी बाबूराम ने बताया कि शासन की ओर से काकादेव थाने में दर्ज मुकदमे की विवेचना ईओडब्ल्यू को सौंपी गई है। दस्तावेजों की जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

महिला को ओमान भेजने वाले एजेंट की जमानत खारिज 

महिलाओं को अधिक पैसे कमाने का लालच देकर ओमान भेजने के मामले में जिला जज आरपी ङ्क्षसह ने आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी। सहायक शासकीय अधिवक्ता रवींद्र अवस्थी ने बताया कि उन्नाव के कासिम नगर निवासी हुस्नआरा को मुजम्मिल नाम के एजेंट ने 11 फरवरी को ओमान भेजा था। काफी दिनों से मां से संपर्क नहीं हुआ तो बेटी अशफिया खातून मां को वापस भारत लाने के लिए मुजम्मिल से मिलीं। इस पर उसने दो लाख रुपयों की मांग की। गर्भवती होने के चलते वह दौड़ भाग नहीं कर सकी और न ही पैसा जुटा सकी। अधिवक्ता ने बताया कि अप्रैल माह में मानस तस्करी से जुड़ी खबरें समाचार पत्रों में पढ़ी तो उन्होंने मोहम्मद अतीकुर्रहमान की छपी फोटो पहचान ली। महिलाओं को लालच देकर ओमान भेजने वाले गैंग में वह भी शामिल था। गुरुवार को अतीकुर्रहमान की जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई। अपराध गंभीर पाते हुए न्यायालय ने जमानत खारिज कर दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.