कानपुर नगर निगम में फर्जी फाइल से किया जा रहा भुगतान, अपर नगर आयुक्त ने इस तरह पकड़ी चोरी

नगर निगम के जोनल अभियंता अपने आला अफसरों की बात तक नहीं सुनते। मसवानपुर की सड़क के दोनों तरफ साइड पटरी बनाने के लिए नगर आयुक्त ने आवास एवं विकास परिषद को पत्र लिखने के आदेश दिए थे इसके बाद भी पत्र नहीं भेजा गया।

Akash DwivediFri, 11 Jun 2021 09:08 AM (IST)
इसमें अभियंता से स्पष्टीकरण तलब किया गया था

कानपुर, जेएनएन। नगर निगम में चल रहे विकास कार्यों में खेल चल रहा है। बिना सक्षम अधिकारी के ही जोनल अभियंता एस्टीमेट तैयार कर स्वीकृति ले रहे हैं। तमाम कार्य मौके पर हो चुके हैं, लेकिन बाद में फर्जी फाइल तैयार करके भुगतान कराने का खेल चल रहा है। ऐसी फाइलों को अपर नगर आयुक्त प्रथम ने पकड़ा। इसके बाद से अभियंत्रण विभाग में खलबली मची हुई है। अपर नगर आयुक्त प्रथम भानु प्रताप ङ्क्षसह ने सभी जोनल अभियंताओं को पत्र लिखा है कि अभियंत्रण विभाग द्वारा फुटपाथ की मरम्मत, नाला, नाली और अन्य कार्यों के लिए प्रस्तुत पत्रावलियों को देखने से पता चला है कि नगर आयुक्त या सक्षम अधिकारी के बगैर अनुमति एस्टीमेट तैयार कर स्वीकृति के लिए प्रस्तुत किया जा रहा है। यह स्थिति आपत्तिजनक और चिंतनीय है। इसके अलावा सिविल कार्यों के एस्टीमेट स्वीकृति संबंधी फाइलों का हाथों-हाथ निस्तारण कराया जा रहा है, जबकि नियमानुसार कोई भी फाइल विभागीय पंजिका में दर्ज होकर डाक के माध्यम से आगे भेजी जानी चाहिए।

पहले पकड़े गए खेल

ग्वालटोली और परमट रैन बसेरा का निर्माण पहले हो जाने के बाद में फिर से एस्टीमेट की फाइल तैयार करके टेंडर कराए जा रहे थे। मामला पकड़ में आने पर मुख्य अभियंता ने टेंडर निरस्त कर दिए। सर्वधर्म चौक चौराहा दर्शनपुरवा में साढ़े पांच लाख का काम दूसरे विभाग से हो जाने के बाद भी एस्टीमेट तैयार करके भुगतान कराने की तैयारी की जा रही थी। इसमें अभियंता से स्पष्टीकरण तलब किया गया था।

अफसरों की भी नहीं सुनते जोनल अभियंता, फंसे कई काम : नगर निगम के जोनल अभियंता अपने आला अफसरों की बात तक नहीं सुनते। मसवानपुर की सड़क के दोनों तरफ साइड पटरी बनाने के लिए नगर आयुक्त ने आवास एवं विकास परिषद को पत्र लिखने के आदेश दिए थे, इसके बाद भी पत्र नहीं भेजा गया। मुख्य अभियंता ने जोन छह के जोनल अभियंता से स्पष्टीकरण तलब किया है।

जोन छह में मसवानपुर की खतरनाक सड़क का निर्माण शुरू हो गया है। पिछले दिनों नगर आयुक्त ने निरीक्षण कर दोनों तरफ साइड पटरी बनाने को कहा था। इसके लिए आवास विभाग को पत्र लिखने के आदेश दिए थे। लाजपत नगर में नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव के निजी सचिव के आवास के सामने की सड़क का पैचवर्क कराने के लिए कहा गया था। तीन माह हो गया, लेकिन अभी तक सड़क नहीं बनी है। जोन छह में नालों की ठीक से सफाई नहीं हुई है। पार्षद अरविंद यादव, अंजु मिश्रा, राघवेंद्र मिश्रा, नीरज बाजपेयी ने भी नाला सफाई में हो रही लापरवाही की शिकायत की है। मुख्य अभियंता एसके सिंह ने जोन छह के अभियंता आरके यादव से स्पष्टीकरण तलब किया है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.