आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे से जोड़ेगा पनकी से विषधन फोरलेन मार्ग, जानिए- किन 31 गांवों से होकर गुजरेगा

कानपुर को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे से जोड़ने वाला प्रस्तावित फोरलेन पनकी-विषधन मार्ग 72 किमी लंबी बनाया जाना है जिसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट जल्द ही शासन को भेजी जाएगी । इससे एक्सप्रेस-वे का सफर और आसान हो जाएगा ।

Abhishek AgnihotriSat, 25 Sep 2021 08:49 AM (IST)
शासन को भेजी जाएगी डिटले प्रोजेक्ट रिपोर्ट।

कानपुर, [मोहित गुप्ता]। पनकी से विषधन तक नहर पटरी पर 72 किमी लंबी फोरलेन सड़क बनाने के लिए 31 गांवों की भूमि का अधिग्रहण होगा। भूस्वामियों की सूची बनाने के लिए राजस्व विभाग से पैमाइश कराई जाएगी। इस फोरलेन सड़क को एक्सप्रेस वे के रूप में विकसित किया जाना है। यह विषधन के पास लखनऊ- आगरा एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा। इसके बनने से शहर के लोगों को कन्नौज, आगरा, अलीगढ़ की ओर जाने के लिए नया व सुगम मार्ग मिल जाएगा। जल्द ही डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी।

अभी शहर के लोग एक्सप्रेस वे से आगरा जाने के लिए बिल्हौर के आगे अरौल जाते हैं। हालांकि दक्षिण इलाके के लोग तो आगरा जाने के लिए इटावा हाईवे को ही मुफीद मानते हैं। दक्षिण के लोग भी इटावा में एक्सप्रेस वे पर चढऩे के बजाय पहले ही चढ़ जाएं, इसके लिए जीटी रोड के समानांतर एक और मार्ग देने की योजना उच्च स्तरीय समग्र विकास समिति ने तैयार की है। समिति के समन्वयक नीरज श्रीवास्तव ने पनकी से विषधन नहर पटरी का प्रस्ताव बना उप्र एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सीईओ अवनीश अवस्थी को भी दिखाया था। उन्हें प्रस्ताव पसंद आया तो उन्होंने मंडलायुक्त द्वारा गठित सर्वेक्षण समिति में प्राधिकरण के एक अफसर को भी नामित कराया।

अब डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार हो गई है, जल्द ही उसे लोक निर्माण विभाग मंडलायुक्त डा. राजशेखर को सौंपेगा और फिर वहां से इसे शासन को भेजा जाएगा। इस सड़क के बनने से पनकी, दादानगर, फजलगंज औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमियों को भी बड़ा लाभ होगा। वे आसानी से अपना माल आगरा, अलीगढ़, कन्नौज की ओर भेज सकेंगे। अभी ट्रकों को नो इंट्री खत्म होने का इंतजार करना पड़ता है। केस्को के अधिशासी अभियंता निर्माण मनीष कुमार गुप्ता ने 232 पोल, केबल बाक्स आदि की शिफ्टिंग में 6.54 करोड़ रुपये का खर्च आने की रिपोर्ट पीडब्ल्यूडी निर्माण भवन के अधिशासी अभियंता को भेजी है। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम से अभी रिपोर्ट आनी है। वन विभाग ने भी पेड़ों की कटाई और पौधारोपण का खर्च बता दिया है। इस फोरलेन प्रोजेक्ट को पूरा करने में 400 करोड़ रुपये के खर्च का अनुमान है।

यह होगा फायदा : अभी जीटी रोड से पनकी, दादानगर, भौंती औद्योगिक क्षेत्र आने व जाने के लिए वाहन सवार जीटी रोड का इस्तेमाल करते हैं। जीटी रोड में चौबेपुर, शिवराजपुर, बिल्हौर में भीषण लगता है। इससे वाहन सवार घंटों फंसे रहते हैं। रात नौ बजे से पहले तक ट्रकों को शहर की सीमा पर खड़ा रहना पड़ता है। पनकी से विषधन तक फोरलेन सड़क बनने से इस समस्या से निजात मिल जाएगी।

इन गांवों का होना है अधिग्रहण : रहीमपुर विषधन, खरपतपुर, उदयभानपुर, उट्ठा, मनावा, ककवन, गढ़ेवा, भीटी कुर्सी, कमालपुर, खोदन, सुज्जापुर, रामपुर सखरेज, तकतौली, खीरतपुर, तौधकपुर, रामनगर, भऊसाना, जगतपुर, कुर्मीखेड़ा, विरोह, सरदारपुर, सहज्योरा, होलकापुर, इंदलपुर जुगराजपुर, पचौर, पेम, कुरसौली, लोगहरपुरवा, पुरवा नानकारी, बारासिरोही, मिर्जापुर।

लिंक रोड प्रोजेक्ट पर एक नजर

लंबाई : 72 किमी

चौड़ाई : फोरलेन

अनुमानित लागत: 400 करोड़

-पोल, लाइन और बिजली के उपकरण शिफ्ट में खर्च होंगे 16.54 करोड़ रुपये

-पनकी से विषधन तक सड़क को फोरलेन किया जाना है। यूटिलिटी शिफ्टिंग के लिए केस्को की ओर से पत्र आया है। राजस्व की टीम ने भी जमीनों का सीमांकन कर रिपोर्ट दे दी है। -केसी वर्मा, मुख्य अभियंता पीडब्ल्यूडी, कानपुर क्षेत्र

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.