किसान बिल के विरोध में भाकियू समेत विपक्ष का जोरदार प्रदर्शन, जानें कानपुर और आस-पास के जिलों में कैसा रहा माहौल

कानपुर में किसान बिल का पुरजोर विरोध करते लोग
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 03:46 PM (IST) Author: Abhishek Agnihotri

कानपुर, जेएनएन। सदन में ध्वनिमत से पास कराए गए किसान बिल को लेकर प्रदर्शन और विरोध दिन-प्रतिदिन तेज होता जा रहा है। जहां एक आेर सभी विपक्षी दल इस बिल को किसान विरोधी बताने में एड़ीचोटी का जोर लगाए हैं वहीं, सरकार इसके किसानों के हितकर बता रही है। फिलहाल स्थितियां ये हैं कि जगह-जगह भारतीय किसान यूनियन सरकार द्वारा लाए गए इस बिल का जोरदार विरोध कर रही है। सदन में पास कृषि विधेयक के खिलाफ कानपुर समेत आसपास के कई जिलों में शुक्रवार काे प्रदर्शन और इस परिप्रेक्ष्य में जिलों का माहौल कुछ इस प्रकार रहा -

कानपुर

किसान कांग्रेस के नेतृत्व में किसान विरोधी बिल पास किए जाने के विरोध में विकास भवन गीता नगर कानपुर में ज्ञापन दिया गया। जुलूस की शक्ल में किसान कांग्रेस के लोग एकत्रित हुए। सैकड़ों की तादात में लोगों ने किसान विरोधी बिल वापस लो, किसानों के सम्मान में कांग्रेस मैदान में, विभिन्न नारे लगाए। कानपुर मुख्य विकास अधिकारी को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन देने में प्रमुख रूप से कानपुर किसान कांग्रेस के अध्यक्ष नरेंद्र चंचल कुशवाहा इंटक के उपाध्यक्ष राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विजय सिंह भदौरिया नगर ग्रामीण के संस्थापक अध्यक्ष श्री श्याम देव सिंह जी कल्याणपुर विधानसभा के नेता राजीव द्विवेदी एडवोकेट साहब नगर ग्रामीण के नेता रवि सिंह गौर अल्पसंख्यक विभाग के पूर्व चेयरमैन तुफैल अहमद, अमित शुक्ला, मोनू, मनोज पटेल समेत कई लोग मौजूद थे।

--

फतेहपुर

यहां कृषि बिलों के विरोध में भाकियू कार्यकर्ताओं ने तीनो तहसीलों में एकत्रित होना शुरू कर दिया। सपाइयों केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन एसडीएम को दिया। सदर तहसील में नहर कालोनी, बिंदकी में तहसील के सामने व खागा में हथगाम में प्रदर्शन के लिए भाकियू कार्यकर्ता पहुंचे। भाकियू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंह चौहान ने कहा कि दोपहर दो बजे भाकियू कार्यकर्ता बिल के विरोध में ज्ञापन देंगे।

--

बांदा-चित्रकूट

कृषि बिलों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन ने कलेक्ट्रेट के पास धरना दिया। बाद में सिटी मजिस्ट्रेट को प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। इसके पूर्व किसानों की मांगों के समर्थन में सपाइयों ने भी ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन को लेकर जिले की तहसीलों से किसान नेता अशोकलाट के पास जुटे और कलेक्ट्रेट की ओर बढ़े। जहां पहले से तैनात भारी फोर्स ने उन्हें रोक दिया। कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार को बैरीकेडिंग लगाकर आवागमन रोक दिया गया था। सिटी मजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह को ज्ञापन सौंपा गया। वहीं, चित्रकूट के राजापुर तहसील के गोसाईपुर में भाकियू के तत्वावधान में करीब सौ किसान एकत्रित हुए। जिलाध्यक्ष राम सिंह पटेल के नेतृत्व में जनसभा में बिल को लेकर किसान नेता केंद्र सरकार को कोसते नजर आए।

--

औरैया-इटावा

औरैया में नए कृषि बिल के विरोध में जिला मुख्यालय में कई किसान एकत्रित हुए। किसानों के लखनऊ जाने की सूचना पर स्टेशन व चौराहों में सघन चेकिंग की गई। सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन एसडीएम को देते हुए किसान विरोधी बिल वापस लेने की मांग ।भाकियू के पदाधिकारियों ने कहा कि अगर बिल वापस न हुआ तो और वृहद आंदोलन किया जाएगा। वहीं, इटावा में कृषि बिल के विरोध में सपा, कांग्रेस, किसान सभा और भारतीय किसान यूनियन ने अलग-अलग स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया। सपा ने जिलाध्यक्ष गोपाल यादव के नेतृत्व में कचहरी में तो कॉंग्रेस और किसान सभा ने नई मंडी परिसर में प्रदर्शन किया। किसान यूनियन ने आइटीआइ चौराहे पर प्रदर्शन कर उपजिलाधिकारी सदर सिद्धार्थ को ज्ञापन सौंपा। सपा जिलाध्यक्ष गोपाल यादव के नेतृत्व में सपा ने कचहरी में प्रदर्शन कर सिटी मजिस्ट्रेट उमेश मिश्रा को ज्ञापन सौंपा। सभी दलों ने एक सुर में कृषि बिल का विरोध किया और इसे किसानों के लिये घातक बताया। गोपाल यादव ने कहा कि इस बिल से किसान बंधुआ मजदूर बन कर रह जाएगा।

--

फर्रुखाबाद-कन्नौज

फर्रुखाबाद के नवाबगंज ब्लॉक परिसर में भाकियू टिकैत गुट के जिलाध्यक्ष अरविन्द शाक्य के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान फसलों का न्यूनतम मूल्य लागू करना, फसल खरीद को गारंटी कानून बनाए जाने की मांग की गई। वहीं, कन्नौज के गुरसहायगंज में भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के जिलाध्यक्ष शमीम सिद्दीकी के नेतृत्व में जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान किसान बिल, फसलों का न्यूनतम मूल्य लागू करने की मांग की गई। प्रशासन और किसानों में नोकझोंक भी हुई। मौके पर सदर उप जिलाधिकारी गौरव शुक्ला, छिबरामऊ उप जिलाधिकारी देवेश कुमार गुप्ता, सीओ सदर शिव प्रताप सिंह मौजूद रहे।

--

कानपुर देहात-महोबा

कानपुर देहात के माती कलेक्ट्रेट में कृषि विधेयक, किसानों की अन्य समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन का धरना संपन्न हुआ। सैकड़ों किसानों के द्वारा सड़क न जाम कर दी जाए इसके लिए पुलिस फोर्स तैनात रहा। वहीं, महाेबा में कोई बड़ा प्रदर्शन नहीं किया गया। भाकियू ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर ज्ञापन दिया, भानु गुट के किसान नेताओं की मांग है कि किसान अध्यादेश को वापस लिया जाए। इस मौके पर यूनियन के जिला पदाधिकारी मौजूद रहे।

--

जालौन-उन्नाव

जालौन में किसान बिल समेत मांगों को लेकर भाकियू के नेतृत्व में जिले भर के किसानों ने हाईवे में सड़क जाम कर धरना प्रदर्शन किया। यहां भी धरना प्रदर्शन के दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा। वहीं, उन्नाव में निराला प्रेक्षागृह के बाहर जोरदार धरना-प्रदर्शन किया गया।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.