कानपुर-लखनऊ हाईवे पर हो रहे हादसों से बेसबब एनएचएआइ, अब तक नहीं बंद हुए अवैध कट

अवैध कट पर वाहन स्वामी शार्टकट मारकर निकलते हैं। इन कटों से निकलने पर आये दिन दुर्घटनाएं भी हो रही हैं। जिससे बड़ी और छोटी दुर्घटनाएं आए दिन हो रही हैं। इसके बाद भी विभाग कुछ सुनने को तैयार नही है। नवाबगंज में तीन स्थानों पर कट है।

Shaswat GuptaThu, 22 Jul 2021 04:05 PM (IST)
उन्नाव की रोड की खबर से संबंधित प्रतीकात्मक फोटो।

उन्नाव, जेएनएन। नेशनल हाईवे संख्या-25 कानपुर-लखनऊ पर रोजाना दुर्घटनाओं के बाद भी एनएचएआइ अवैध कटों को लेकर बेसबब है। यही कारण है कि बार-बार याद दिलाए जाने के बाद भी मार्ग पर मौजूद 32 अवैध कट उसी स्थिति में हैं। अवैध कटों से रायबरेली आरओबी भी अछूता नहीं है। इन अवैध कटों की जानकारी एनएचएआइ सहित टोल संचालक एजेंसी पीएनसी को भी है। बावजूद कटों को बंद कराने की पहल नहीं की गई है।  

 अवैध कट पर वाहन स्वामी शार्टकट मारकर निकलते हैं। इन कटों से निकलने पर आये दिन दुर्घटनाएं भी हो रही हैं। जिससे बड़ी और छोटी दुर्घटनाएं आए दिन हो रही हैं। इसके बाद भी विभाग कुछ सुनने को तैयार नही है। नवाबगंज में तीन स्थानों पर कट है। इसके साथ ही भल्लाफार्म तक पांच  स्थानों पर कट हैं, भल्लाफार्म से सोहरामऊ तक छह स्थानों पर अवैध कट हैं। अवैध कट अधिकतर पेट्रोल पंप, ढाबों और रेस्टोरेंट के सामने हैं। इन कटों से रोड पार करने में आसानी होती है और बहुत दूर नहीं जाना पड़ता है। नवाबगंज से उन्नाव बाईपास तक 17 स्थानों पर कट बने हुए हैं। उन्नाव से जाजमऊ तक भी कई स्थानों पर कट हो चुके हैं। इन कटों के बंद करने की जिम्मेदारी टोल संचालक एजेंसी पीएनसी की है। पीएनसी के मैनेजर विक्रम सिंह ने बताया की कुछ अवैध कट बंद कराये गए थे। दोबारा चालू हो जाने की जानकारी मिली है। उनको भी जल्द बंद करा दिया जाएगा। साथ ही जिन लोगों ने नियम तोड़ा है उनका पता लगाकर जुर्माना वसूल किया जाएगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.