दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

रमईपुर के पास से हमीरपुर हाईवे बनाने का प्रस्ताव खारिज, अब नौबस्ता से होगा शुरू

नौबस्ता से हमीरपुर तक बनेगा फोर लेन हाईवे।

एनएचएआइ ने योजना में बदलाव करते हुए अब नौबस्ता हाईवे से ही नया फोर लेन राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने की तैयारी की है और कंसलटेंट से एक हफ्ते में डीपीआर मांगी है। जाम की समस्या के समाधान के लिए बदलाव किया गया है।

Abhishek AgnihotriSat, 08 May 2021 07:58 AM (IST)

कानपुर, जेएनएन। कानपुर से हमीरपुर होते हुए कबरई जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के समानांतर प्रस्तावित फोरलेन हाईवे रमईपुर के पास नहीं बनेगा। कंसलटेंट कंपनी ने इस हाईवे का जीरो प्वाइंट रमईपुर रखा था ताकि हाईवे की शुरुआत रिंग रोड से हो, लेकिन इस रिपोर्ट को एनएचएआइ ने खारिज कर दिया और एक हफ्ते के अंदर नौबस्ता हाईवे से ही इसकी शुरुआत का प्रोजेक्ट बनाने के लिए कहा है। एनएचएआइ प्रबंधन ने कहा है कि इसे रमईपुर में रिंग रोड से जोड़ा जा सकता है, लेकिन रमईपुर से इसकी शुरुआत नहीं की जा सकती।

नौबस्ता से घाटमपुर होते हुए हमीरपुर होते हुए कबरई जाने वाला हाईवे अभी नौबस्ता गल्ला मंडी से कुछ आगे तक फोर लेन है। उसके बाद यह दो लेन है। इसे फोरलेन करने की कवायद तो पिछले कई वर्ष से चल रही है, लेकिन अंतिम रूप नहीं दिया जा सका, इसकी वजह है इस हाईवे का निर्माण करने वाली कंपनी के साथ हुआ अनुबंध। अनुबंध के मुताबिक 2025 तक पीएनसी कांस्ट्रक्शन को टोल टैक्स वसूलना है। अगर वर्तमान हाईवे का चौड़ीकरण करना है तो ठेका या तो पीएनसी को ही देना होगा या फिर पीएनसी को वह राशि वापस करनी होगी जो अभी टोल टैक्स के माध्यम से वसूली जानी है।

ऐसे में एनएचएआइ एक समानांतर हाईवे बनाना चाहता है, ताकि जाम की समस्या खत्म हो जाए। इसीलिए कंसलटेंट से तीन अलाइनमेंट बनवाए गए। तीसरा अलाइनमेंट वर्तमान हाईवे के बाएं से नया हाईवे बनाने का है। इसे ही मंजूर किया गया है, लेकिन कंसलटेंट ने अपनी डीपीआर में हाईवे का निर्माण रमईपुर से करना प्रस्तावित किया और इसका जीरो प्वाइंट प्रस्तावित रिंग रोड को ही बनाया। एनएचएआइ की भूमि अधिग्रहण समिति चाहती है कि हमीरपुर हाईवे और रिंग रोड का निर्माण एक साथ हो इसीलिए इस प्रोजेक्ट का प्रस्ताव भी एक साथ मांगा है। एनएचएआइ का तर्क है कि अगर नए हाईवे की शुरुआत रमईपुर के पास से होगी तो नौबस्ता से रमईपुर तक जाम की समस्या का समाधान नहीं होगा और जाम लगता रहेगा। इसीलिए परियोजना निदेशक पंकज मिश्र ने कंसलटेंट से कहा है कि नौबस्ता से ही नए हाईवे की शुरुआत होनी चाहिए।

रिंग रोड रमईपुर से होकर गुजरेगी

प्रस्तावित रिंग रोड हमीरपुर हाईवे को रमईपुर के पास शुरू होकर, इटावा हाईवे को सचेंडी, अलीगढ़ जीटी रोड को मंधना, लखनऊ- उन्नाव हाईवे को आटा और प्रयागराज हाईवे को रूमा के पास क्रास करेगी। ऐसे में अब नए हाईवे को नौबस्ता के पास से शुरू कर रमईपुर के ङ्क्षरग रोड से जोड़ते हुए आगे ले जाया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.