नगर निगम की लापरवाही हजारों के लिए बन सकती मुसीबत

नगर निगम की लापरवाही हजारों के लिए बन सकती मुसीबत

नगर निगम सिर्फ कागजों में ही संक्रमित मरीजों के घर से अलग कूड़ा उठा रहा है।

JagranSat, 08 May 2021 01:46 AM (IST)

जेएनएन, कानपुर : नगर निगम सिर्फ कागजों में ही संक्रमित मरीजों के घर से अलग कूड़ा उठा रहा है। सामान्य कूड़े के साथ उठने वाला संक्रमित कचरा भी खुले कूड़ाघरों में डाला जा रहा है। इसके निस्तारण की कोई व्यवस्था नहीं है।नगर निगम की ये लापरवाही शहरवासियों के लिए मुसीबत का सबब बन सकती है। कोरोना संक्रमित मरीजों के घर का कूड़ा उठाने की जिम्मेदारी जेटीएन को दी गई है, लेकिन एजेंसी कहीं भी कूड़े का उठान नहीं कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस वक्त शहर में तकरीबन 12 हजार लोग होम आइसोलेशन में हैं, लेकिन निगम द्वारा कंटेनमेंट जोन से निकलने वाले कूड़े, पीपीई किट आदि के अलग से निस्तारण की कोई व्यवस्था नहीं है। इनमें से स्वरूप नगर , नवाबगंज, विष्णुपुरी कल्याणपुर इंदिरा नगर शिवली रोड आवास विकास कल्याणपुर, किदवईनगर, नौबस्ता हंसपुरम समेत कई इलाकों के हालात ज्यादा खराब है। किराना, गल्ला बाजार खोलने को लेकर कानपुर उद्योग व्यापार मंडल में विवाद, कानपुर : रसोई की जरूरी चीजों की सप्लाई चेन कानपुर ही नहीं आसपास के जिलों में बनाए रखने के मुद्दे में भी कानपुर उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों का आपसी विवाद एक बार फिर सबके सामने आ गया है। कानपुर उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री विनोद गुप्ता ने पुलिस आयुक्त असीम अरुण से इन दुकानों को खोलने की अनुमति मांगी थी, वहीं व्यापार मंडल के एक पदाधिकारी निखिल गुप्ता ने दुकानें खुलवाने का प्रयास करने वाले व्यापारी नेताओं की निदा की। एक अन्य पदाधिकारी कृपाशंकर त्रिवेदी ने दुकानें न खुलने तक की बात कह दी। हालांकि शुक्रवार सुबह किराना व गल्ला की थोक दुकानें खुलीं। किराना बाजार की दुकानें काफी दिनों से बंद हैं और शुक्रवार से गल्ले की दुकानें भी बंद हैं। इसके चलते मोहल्लों में जो किराना दुकानें हैं, वहां सामान कम हो गया है। ऐसे में फुटकर दुकानदारों ने थोक व्यापारियों से दुकानें खुलवाने को कहा था। बुधवार को व्यापारियों का एक प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस आयुक्त से मिला तो विनोद गुप्ता ने यह बात रखी थी। वहीं किराना बाजार के अध्यक्ष अवधेश बाजपेई ने पुलिस उपायुक्त अनूप कुमार से इसके लिए बात की थी। गुरुवार को किराना और गल्ला बाजार के व्यापारियों के बीच संदेश वायरल हो गया था कि शुक्रवार से किराना व गल्ला की दुकानें खोलने की अनुमति मिल सकती है। कानपुर उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने वाट्सएप ग्रुप पर दुकानें खोलने के विरोध में संदेश डालने शुरू कर दिए। गल्ला कारोबारी कृपाशंकर त्रिवेदी ने कहा कि कोई दुकान नहीं खुल रही है, उनकी एडीएम सिटी से बात हो गई है। निखिल गुप्ता ने दुकान खुलवा रहे व्यापारी नेताओं की निदा करते हुए लिखा कि दुकान खुलें तो सबकी खुलें, वरना किसी की न खुलें। हालांकि इस गुट के विरोध का कोई असर नहीं हुआ और शुक्रवार सुबह दुकानें खुलीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.