दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

कानपुर में रात में आई आंधी व बारिश से गिरा पारा

धरती पर स्थानीय स्तर पर बारिश की बूंदें पड़ीं तो लोगों ने कुछ राहत महसूस की।

सूरज की तपिश से झुलस रहे शहरवासियों को रात में आई आंधी व बारिश राहत लेकर आई।मौसम सामान्य होने के बाद कई इलाकों में आपूर्ति शुरू कर दी गई लेकिन जहां फाल्ट हुए थे वहां देर रात तक बिजली गुल रही।

Thu, 22 Apr 2021 02:27 AM (IST)

जागरण संवाददाता, कानपुर : सूरज की तपिश से झुलस रहे शहरवासियों को रात में आई आंधी व बारिश राहत लेकर आई। दोपहर में चिलचिलाती धूप के बीच धरती पर स्थानीय स्तर पर बारिश की बूंदें पड़ीं तो लोगों ने कुछ राहत महसूस की। दोपहर में हुई छिटपुट बूंदाबांदी के बाद धूप छांव के बीच बारिश के आसार बनने लगे और रात होते होते मौसम का मिजाज इस कदर बदल गया कि रात साढ़े दस बजे 25 से 30 किमी की रफ्तार से हवा चलने लगी और देखते ही देखते बारिश होने लगी। इस बीच पारा अचानक चार से पांच डिग्री सेल्सियस गिर गया। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि (सीएसए) के मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश हुई है। मौसम के इस उतार चढ़ाव के बीच बुधवार को अधिकतम तापमान 36.4 डिग्री व न्यूनतम 25.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान सामान्य से 0.2 डिग्री सेल्सियस कम रहा। सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि गुरुवार को दिन में पारा तीन से चार डिग्री सेल्सियस गिरने की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है, जिसके चलते कानपुर समेत मध्य उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में स्थानीय स्तर पर हल्की बारिश के साथ धूल भरी आंधी चलने की संभावना है। तीन दिनों तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहने की संभावना है। पारा सामान्य व उससे नीचे रह सकता है। इस समय अंतराल के बाद तापमान फिर बढ़ेगा जिसके कारण गर्म हवा चलेगी। वहीं दूसरी ओर रात में आई आंधी के चलते शहर में कुछ स्थानों पर पेड़ गिर गए। मौसम) आंधी-बारिश से बिजली गुल, पूरा शहर अंधेरे में जागरण संवाददाता, कानपुर : रात को आंधी और बारिश से लगभग पूरे शहर की आपूर्ति बाधित हो गई। फीडर ट्रिप होने, लाइनें टूटने, अंडर ग्राउंड फाल्ट होने, फीडर शटडाउन होने से देर रात तक बिजली संकट बना रहा। मौसम सामान्य होने के बाद कई इलाकों में आपूर्ति शुरू कर दी गई, लेकिन जहां फाल्ट हुए थे वहां देर रात तक बिजली गुल रही। बिजली की जानकारी के लिए उपभोक्ता केस्को की हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करते रहे। बिजली गुल होने से 25 लाख उपभोक्ता प्रभावित रहे। बुधवार रात को तेज आंधी और उसके बाद बारिश से बिजली व्यवस्था धड़ाम हो गई। आंधी व पानी से फाल्ट रोकने के लिए करीब पूरे शहर के फीडर शटडाउन कर दिए गए। 88 सबस्टेशनों से जुड़े इलाकों में बिजली गुल हो गई। इस दौरान फाल्ट से फीडर ट्रिप होने, लाइनें टूटने, कई जगहों पर अंडर ग्राउंड फाल्ट होने व अन्य समस्याओं के चलते लोग बिजली के लिए परेशान रहे। बारिश थमने के बाद आपूर्ति बहाल की गई लेकिन जहां फाल्ट थे वहां देर रात तक बिजली नहीं आ सकी। आंधी व बारिश से नवाबगंज, किदवई नगर, रावतपुर,पराग डेयरी, चीना पार्क, चमनगंज, परेड, सर्वोदयनगर, पनकी, दादानगर, दहेली सुजानपुर, शास्त्री नगर, लाजपतनगर, जवाहरनगर, पी रोड, कृष्णानगर, विनायकपुर, बिरहाना रोड, आवास विकास, हंसपुरम, गो¨वद नगर, विश्व बैंक बर्रा, गो¨वदनगर,कल्याणपुर, जरौली,रामादेवी, स्वरूप नगर, नौबस्ता सहित शहर के अधिकतर इलाके अंधेरे में रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.