दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

आक्सीजन प्लांट में कम होने लगीं लाइनें, मिला सिलिंडर

आक्सीजन प्लांट में कम होने लगीं लाइनें, मिला सिलिंडर

दादानगर नगर इंडस्ट्रियल एरिया स्थित चमन गैस प्लांट में सिलिडर रीफिल कराने वालों की संख्या कम हो रही है।

JagranSun, 09 May 2021 02:08 AM (IST)

जेएनएन, कानपुर : दादानगर नगर इंडस्ट्रियल एरिया स्थित चमन गैस प्लांट में सिलिडर रीफिल कराने वालों की संख्या कम हो रही है। अब लोगों का आसानी से सिलिडर भर पा रहा है।

चमन गैस प्लांट में शनिवार सुबह से ही तीमारदार पहुंचे, लेकिन किसी को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ा। लोग आधार कार्ड जमाकर सिलिडर रीफिल करा रहे थे। एक तीमारदार औरैया के एक परिचित से 40 हजार रुपये में सिलिडर खरीदकर चमन गैस प्लांट आया। वहां पहुंचा तो मैनेजर करन और कर्मचारी राजू ने सिलिडर पकड़ लिया। करन ने बताया कि डी-2 सिलिडर था। आक्सीजन भरते ही फट जाएगा। इस वजह से उसे जमा कर लिया गया है। इसी तरह आवास विकास निवासी संतोष महोबा से 33 हजार में सिलिडर खरीद कर लाए थे। जब चमन गैस में भरवाने पहुंचे तो पता चला कि सिलिडर खराब है। इस पर उन्हें वापस कर दिया गया। ऑक्सीजन की है जरूरत, करें वाट्सएप, कानपुर : कोरोना महामारी के इस दौर में संक्रमित व्यक्ति को ऑक्सीजन की बहुत अधिक जरूरत पड़ रही है। हालांकि, ऑक्सीजन का संकट भी है। इस स्थिति में अब कानपुर हेरिटेज राउंड टेबल 125 संस्था के पदाधिकारी दो घंटे के लिए फौरन ऑक्सीजन समेत अन्य जरूरी उपकरण उपलब्ध करा देंगे। सहायता के लिए जरूरतमंद को उनके हेल्पलाइन नंबर- 8874787878 पर वाट्सएप करना होगा। पदाधिकारियों की ओर से ऑक्सी-मोबिल सेवा शुरू कर दी गई है। शनिवार को मोतीझील में हुए एक कार्यक्रम के दौरान एसडीएम दीपक पाल ने 10 ऑक्सी मोबिल (ई-रिक्शा पर मौजूद ऑक्सीजन सिलिडर व अन्य उपकरण) का उद्घाटन किया। संस्था के सदस्य साहिब सेठी ने बताया कि यह सभी ऑक्सी मोबिल शहर के विभिन्न क्षेत्रों में भ्रमण करेंगे। इसके अलावा फीडिग इंडिया संस्था के सदस्य मरीजों के परिजनों को भोजन, जूस, बिस्कुट उपलब्ध कराएंगे। यहां डॉ.आशीष श्रीवास्तव, अभिषेक कपूर, ब्रिजेश अवस्थी आदि उपस्थित रहे। दुर्गापुर से 80 टन ऑक्सीजन लेकर आज आएगी ट्रेन, कानपुर : कोरोना के पीक से होकर वापस ढलान पर आने के बाद ही सही शनिवार को ऑक्सीजन को लेकर कई राहत भरी सूचनाएं कानपुर के लोगों के लिए आईं। शनिवार शाम 4.35 बजे दुर्गापुर से 20-20 टन के चार कंटेनर के साथ ट्रेन रवाना हो गई जो सुबह 10 बजे के करीब जूही यार्ड में आ जाएगी। इसमें 40 टन शहर को, जबकि बाकी 40 टन आसपास जिलों को मिलेगी। वहीं शहर में तीन अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के जल्दी शुरू होने और पांच अन्य प्लांट को लेकर उस पर जल्दी काम करने का निर्णय भी हुआ। लिडे गैस कंपनी से 30 अप्रैल को कानपुर को ऑक्सीजन देने की बात की गई थी। शनिवार को लिडे की तरफ से कानपुर को ऑक्सीजन भेजने की शुरुआत हुई। दुर्गापुर से चार क्रायजोनिक कंटेनर में 20-20 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन लेकर ट्रेन रवाना हो गई। यह ट्रेन रविवार सुबह आ जाएगी। जूही यार्ड में ट्रेन के आने के बाद ऑक्सीजन को पनकी स्थित इंडेन के टैंकर में रखा जाएगा। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के मुताबिक ट्रेन के साथ ही लिडे के अधिकारी भी आ रहे हैं। ये ऑक्सीजन कानपुर को नियमित रूप से मिलती रहेगी। वहीं कानपुर में जो ऑक्सीजन होगी, वह अलग है। इसके बाद ऑक्सीजन का संकट नहीं रहेगा। अगले दो दिन में उर्सला में 500 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनाने वाले प्लांट का परीक्षण होगा। कांशीराम अस्पताल में भी दो सप्ताह में इतनी ही क्षमता का प्लांट लग जाएगा। मेडिकल कालेज में इस माह के अंत में प्लांट लगा दिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.